ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशराजस्थान में रिवाज बदलने के लिए कांग्रेस बेताब, Exit Poll सामने आते ही प्लान-B पर भी काम

राजस्थान में रिवाज बदलने के लिए कांग्रेस बेताब, Exit Poll सामने आते ही प्लान-B पर भी काम

राजस्थान: हर पांच साल बाद सत्ता बदलने का रिवाज है। लेकिन कांग्रेस इस बार रिवाज बदलने की उम्मीद कर रही है। इसकी कई वजह है। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मुताबिक सरकार के खिलाफ कोई नाराजगी नहीं है।

राजस्थान में रिवाज बदलने के लिए कांग्रेस बेताब, Exit Poll सामने आते ही प्लान-B पर भी काम
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Fri, 01 Dec 2023 05:42 AM
ऐप पर पढ़ें

Rajasthan Exit Poll 2023: तमाम एक्जिट पोल को दरकिनार करते हुए कांग्रेस ने एक बार फिर राजस्थान में जीत का दावा दोहराया है। पार्टी को भरोसा है कि वह पूर्ण बहुमत के साथ इस बार रिवाज बदलने में सफल रहेगी। हालांकि, इसके साथ ही पार्टी ने पूर्ण बहुमत नहीं मिलने की स्थिति से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। ताकि रिवाज बदलते हुए सत्ता बरकरार रखने में सफल रहे।

राजस्थान में हर पांच साल बाद सत्ता बदलने का रिवाज है। लेकिन कांग्रेस इस बार रिवाज बदलने की उम्मीद कर रही है। इसकी कई वजह है। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मुताबिक सरकार के खिलाफ कोई नाराजगी नहीं है। सरकार की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचा है और चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की भाषा लोगों को पसंद नहीं आई है। इस सबके बावजूद पार्टी रणनीतिकार मानते हैं कि रिवाज बदलना इतना आसान नहीं है। यही वजह है कि पार्टी ने मजबूत निर्दलीय उम्मीदवारों से संपर्क साधना शुरु कर दिया है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक, किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता है, तो हम ऐसी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। पार्टी नेता इस दिशा में काम कर रही है।

1998 के बाद कांग्रेस को कभी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला
दिलचस्प बात यह है कि 1998 के बाद कांग्रेस को कभी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। जबकि 2003 और 2013 में भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाती रही है। यही वजह है कि पार्टी नेताओं ने अभी से जीत की संभावना वाले निर्दलीय उम्मीदवारों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। ताकि, जरूरत पड़ने पर उनका समर्थन हासिल किया जा सके।

इसके साथ प्रदेश में जब भी कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, दोनों पार्टियों के बीच वोट प्रतिशत में अंतर बहुत नजदीक रहा है। वर्ष 2018 में सिर्फ एक फीसदी के अंतर से सरकार बदल गई थी। जबकि 2013 में भाजपा की जीत के वक्त वोट प्रतिशत में फर्क करीब 12 फीसदी था। यही वजह है कि पार्टी अपने सभी विकल्प खुले रखना चाहती है।

राजस्थान एग्जिट पोल 2023: राजस्थान में इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया का सर्वे कांटे की टक्कर का अनुमान लगा रहा है, जिसमें कांग्रेस को 86-106 सीटें, बीजेपी को 80-100 सीटें और अन्य को 9-18 सीटें मिलने का अनुमान है। जन की बात के सर्वे ने भविष्यवाणी की है कि भाजपा को 100-122 और कांग्रेस को 62-85 सीटें मिलेंगी, टीवी9 भारतवर्ष पोलस्ट्रैट ने भाजपा को 100-110 और कांग्रेस को 90-100 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की है। टाइम्स नाउ ईटीजी पोल के मुताबिक, राजस्थान में बीजेपी को 108-128 सीटें और कांग्रेस को 56-72 सीटें मिलने का अनुमान है। जिस्ट-टीआईएफ-एनएआई ने भविष्यवाणी की है कि राजस्थान में सत्ता के परिवर्तन की परंपरा जारी रहेगी, इस तरह यहां भाजपा को 110 सीटें और कांग्रेस को 70 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। पी-मार्क पोल में कहा गया है कि राजस्थान में बीजेपी 42.2 फीसदी वोट शेयर के साथ 105-125 सीटें जीत सकती है और कांग्रेस 39.7 फीसदी वोट के साथ 69-81 सीटें जीत सकती है। इसमें कहा गया है कि अन्य को 18.1 प्रतिशत वोट के साथ 5-15 सीटें मिलने की संभावना है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें