ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशमहाराष्ट्र में सरकार गिराने के बजाय बाढ़ प्रभावित असम जाएं पीएम मोदी: कांग्रेस सांसद

महाराष्ट्र में सरकार गिराने के बजाय बाढ़ प्रभावित असम जाएं पीएम मोदी: कांग्रेस सांसद

जलमार्ग व आयुष मंत्री, सर्बानंद सोनोवाल ने बुधवार को क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित लोगों से मिलने के लिए असम के नगांव जिले के फूलगुरी हायर सेकेंडरी स्कूल में स्थापित राहत शिविर का दौरा किया।

महाराष्ट्र में सरकार गिराने के बजाय बाढ़ प्रभावित असम जाएं पीएम मोदी: कांग्रेस सांसद
Amit Kumarएएनआई,नई दिल्लीThu, 23 Jun 2022 04:23 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

असम कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महाराष्ट्र सरकार गिराने के बजाय बाढ़ प्रभावित असम का दौरा करना चाहिए। उन्होंने कहा, "अगर कोई संकट है, तो वह बाढ़ का है। भाजपा सत्ता के लिए अंधी हो गई है। असम में बाढ़ है, पीएम को राज्य का दौरा करना चाहिए, विशेष पैकेज की घोषणा करनी चाहिए लेकिन वह महाराष्ट्र सरकार को गिराने में, या गुजरात चुनाव में व्यस्त हैं... भाजपा के लिए केवल सत्ता ही सबकुछ है।" 

कांग्रेस सांसद ने कहा, "असम के 34 जिलों में 41 लाख से अधिक लोग जारी बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति के प्रभाव में हैं।" केंद्रीय बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग व आयुष मंत्री, सर्बानंद सोनोवाल ने बुधवार को क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित लोगों से मिलने के लिए असम के नगांव जिले के फूलगुरी हायर सेकेंडरी स्कूल में स्थापित राहत शिविर का दौरा किया। असम के करीमगंज जिले में कुशियारा, लोंगई और सिंगला नदियों के बाढ़ के पानी के बाद जिले के अधिक क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति बिगड़ गई है, जिससे जिले के 1.34 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

विपक्ष की सरकार को BJP बर्दाश्त नहीं कर पा रही, CM भूपेश बोले- MLA पहले गुजरात गए फिर असम, पर्दे के पीछे कौन?

बाढ़ के पानी से जिले की कई मुख्य सड़कें जलमग्न हो गई हैं। असम में इस साल अब तक बाढ़ और भूस्खलन से 82 लोगों की मौत हो चुकी है। निचले असम के बारपेटा जिले में अकेले 12.30 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं, इसके बाद दरांग में 4.69 लाख, नगांव में 4.40 लाख, बजली में 3.38 लाख, धुबरी में 2.91 लाख, कामरूप में 2.82 लाख, गोलपारा में 2.80 लाख, कछार में 2.07 लाख, नलबाड़ी में 1.84 लाख, दक्षिण सलमारा में 1.51 लाख, बोंगाईगांव में 1.46 लाख, करीमगंज जिले में 1.34 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। 

एएसडीएमए ने यह भी बताया कि प्राकृतिक आपदा के बीच सात लोग लापता हो गए हैं जबकि 2,31,819 लोगों ने राज्य के 810 राहत शिविरों में शरण ली है। आपदा के कारण कुल 1,13,485.37 हेक्टेयर भूमि प्रभावित हुई है, जबकि एएसडीएमए ने अपनी रिपोर्ट में आगे कहा कि कम से कम 11,292 लोगों को प्रभावित क्षेत्रों से निकाला गया है। लगभग 2.32 लाख लोग इस समय राहत शिविरों में बंद हैं। 

रियान पराग ने की लोगों से मदद की अपील, ट्वीट करके लिखा- असम की चाय पसंद है तो बाढ़ के लिए भी चिंता होना चाहिए

इस बीच महाराष्ट्र में सियासी संकट छाया हुआ है। गुरुवार सुबह गुवाहाटी में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले विधायकों के बागी समूह में शिवसेना के तीन और विधायक शामिल हो गए हैं, जिससे महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी सरकार में राजनीतिक अस्थिरता और बढ़ गई है। 

वे गुवाहाटी के रैडिसन ब्लू होटल पहुंचे, जहां अन्य विधायक पहले से मौजूद हैं। शिंदे के साथ कल रात गुवाहाटी में चार और विधायक शामिल हुए। इसके साथ ही पिछले 24 घंटे में बागी गुट में शामिल होने वाले विधायकों की संख्या सात हो गई है।  

epaper