DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UPA की तुलना में NDA के सौदे में राफेल की आपूर्ति कम समय में हो रही: CAG

The defence ministry said the Supreme Court has gone through details of “pricing and commercial adva

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राजग सरकार (NDA Government) द्वारा किये गये सौदे के तहत 36 राफेल लड़ाकू विमानों (Rafale Plane) की आपूर्ति में संप्रग शासन के दौरान 2007 में किए गए मोलभाव से एक महीना कम वक्त लगेगा।

भाषा के अनुसार, संसद में बुधवार को पेश की गई अपनी रिपोर्ट में कैग ने कहा है कि दसाल्ट एविएशन ने संप्रग शासन को विमानों की आपूर्ति के लिए जिस समय सीमा की पेशकश की थी, उसके हिसाब से उड़ान भरने योग्य 18 विमानों की पहली खेप की आपूर्ति अनुबंध पर दस्तखत होने के 37 से 50 महीने के बीच होनी थी। अगले 18 विमानों की खेप की आपूर्ति अनुबंध पर दस्तखत होने के 49 वें महीने से लेकर 72 वें महीने तक होनी थी। 

सत्य की हुई जीत, महाझूठबंधन का झूठ बेनकाब, राफेल पर कैग रिपोर्ट पर बोले जेटली
     
CAG रिपोर्ट में कहा गया है, '(राजग के समय) वार्ता के दौरान भारतीय वार्ताकार दल ने फ्रांसीसी पक्ष को इस बात से अवगत कराया कि उसे अंतर-सरकारी संधि (आईजीए) पर दस्तखत होने के 24 महीने के अंदर 18 विमानों की पहली खेप की आपूर्ति हो जाने की उम्मीद करता है और अगले 18 विमानों की आपूर्ति 36 महीनों में होने की उम्मीद है।

रिपोर्ट के अनुसार फ्रांसीसी पक्ष ने आखिरकार 18 विमानों की पहली खेप आईजीए पर दस्तखत होने के 36 से 53 महीने तक देने तथा बाकी 18 विमान आईजीए पर हस्ताक्षर के 67 महीने के अंदर देने की की अंतिम पेशकश की थी। कैग ने कहा कि समय सीमा के मामले में 2007 के आपूर्ति कार्यक्रम के लिहाज से यह सौदा अच्छा था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Compared to UPA Rafael s supply comes in short time in nda says CAG report