DA Image
27 जनवरी, 2020|6:45|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागरिकता विधेयक: असम में तनाव, 16 दिसंबर तक इंटरनेट बंद; पश्चिम बंगाल में हिंसक प्रदर्शन, 5 ट्रेन और 25 बस आग के हवाले

murshidabad train fire   video grab

नागरिकता कानून के विरोध में असम, त्रिपुरा, नगालैंड समेत पूर्वोत्तर के कई राज्यों में विरोध-प्रदर्शन शनिवार (14 दिसंबर) को भी जारी रहा लेकिन कहीं से भी हिंसक वारदातों की खबर नहीं आई। हालांकि, पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हुए। हावड़ा-मुर्शिदाबाद में प्रदर्शनकारियों ने बसें, स्टेशन, दुकानें और टोल प्लाजा फूंक दी।

पांच ट्रेनों में आग लगाई : मुर्शिदाबाद जिले के कृष्णपुर स्टेशन पर भीड़ ने पांच खाली ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया। लालगोला स्टेशन पर रेल पटरियों पर तोड़फोड़ की गई।  जिले के सुती में, प्रदर्शनकारियों ने तीन सरकारी बसों में तोड़-फोड़ की और यात्रियों को जबरन बस से उतारकर एक बस को आग लगा दी। 

हाईवे जाम कर 25 बसें फूंकी : पुलिस ने बताया कि सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने मुंबई और दिल्ली रोड को कोलकाता से जोड़ने वाले कोना एक्सप्रेसवे को जाम कर दिया और करीब 25 सार्वजनिक एवं निजी बसें फूंक दीं। मालदा और मुर्शिदाबाद में भी कई बसों को आग के हवाले कर दिया।  मुर्शिदाबाद जिले में कुछ इलाकों में हालात अनियंत्रित होता देख पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

सुरक्षाकर्मियों को पीटा : हावड़ा जिले में भीड़ ने संकरेल रेलवे स्टेशन को आग के हवाले कर दिया और वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों के साथ मारपीट की। उपद्रवियों ने स्टेशन मास्टर के कमरे में तोड़फोड़ की व सिग्नल केबिन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। बगनान इलाके में 20 दुकानें भी फूंक दीं।

असम में इंटरनेट सेवा ठप
असम में सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए 16 दिसंबर तक इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं। 
कर्फ्यू  में ढील : गुवाहाटी में सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक जबकि, डिब्रूगढ़ में सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक ढील दी गई।  दुकानों के बाहर लंबी कतारें नजर आईं।  पेट्रोल पंप भी खोल दिए गए हैं, जहां वाहनों की कतारें दिखीं। हालांकि, स्कूल और कार्यालय अब भी बंद हैं।

नागालैंड में स्कूल कॉलेज बंद
राजधानी कोहिमा में नगा छात्र संघ ने शनिवार को छह घंटे का बंद बुलाया। इसकी वजह से कई हिस्सों में स्कूल, कॉलेज और बाजार बंद रहे संगठन ने बयान जारी कर कहा कि विवादित कानून के खिलाफ असंतोष दर्शाने के लिए बंद का आह्वाना किया गया। यह कानून राज्य के लोगों के हितों एवं भावनाओं के खिलाफ है। लोगों ने  परीक्षा देने जा रहे छात्रों, ड्यूटी पर जा रहे चिकित्साकर्मियों, मीडियाकर्मियों को रोका।

मेघालय : शिलॉन्ग में कर्फ्यू में ढील
मेघालय के शिलॉन्ग में हालात बेहतर होने पर शनिवार को सुबह 10 बजे से शाम सात बजे तक कफ्र्यू में ढील दी गई। यातायात सामान्य रहा और पिछले 20 घंटे में किसी भी अप्रिय घटना होने की कोई खबर नहीं है। इस बीच, राज्य सरकार ने क्षेत्र में इनर लाइन परमिट (आईएलपी) लागू करने के मद्देनजर एक प्रस्ताव लाने के लिए विधानसभा का एक दिन का विशेष सत्र बुलाने का फैसला लिया है।  मुख्यमंत्री कोनराड संगमा गृहमंत्री से मुलाकात करेंगे।

कर्मचारी 18 को हड़ताल पर रहेंगे
सदोउ असम कर्मचारी परिषद के अध्यक्ष बासब कलिता ने बताया कि राज्य सरकार के सभी कर्मचारी 18 दिसंबर को कार्यालय नहीं जाएंगे। राज्य में आंदोलन का नेतृत्व कर रहे ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू) ने असोम जातीयवादी युवा छात्र परिषद और मूल निवासियों के 30 अन्य संगठनों के साथ विरोध प्रदर्शन किया। इसमें वरिष्ठ नागरिकों, छात्रों, शिक्षकों, कलाकारों, गायकों के साथ तमाम बुद्धिजीवी शामिल हुए।

गुवाहाटी से ट्रेनों का संचालन शुरू
पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि ऊपरी असम जिलों की ओर जाने वाली सभी ट्रेनें गुवाहाटी में रद्द कर दी गई, जबकि गुवाहाटी से जाने वाली लंबी दूरी की सभी ट्रेनों ने शाम पांच बजे नाकेबंदी हटाए जाने के बाद अपनी आगे की यात्रा फिर से शुरू कर दी। हालांकि, आठ एक्सप्रेस सहित 78 ट्रेनें रद्द करनी पड़ी हैं जबकि 39 ट्रेनों का मार्ग बदला गया है। रेलवे प्रशासन फंसे लोगों को निकालने के लिए कई विशेष  रेलगाड़ियां चला  रहा है। 

ममता बनर्जी ने चेताया
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंसक प्रदर्शन करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। उन्होंने शांति बनाए रखने व लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन करने की अपील की। उन्होंने कहा, लोगों के लिए परेशानी खड़ी मत कीजिए। सरकारी संपत्तियों को नुकसान मत पहुंचाइए। जो लोग दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:citizenship amendment bill Tension in Assam 5 Trains 25 Buses ablaze in West Bengal