DA Image
23 फरवरी, 2020|7:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागरिकता संशोधन विधेयक: अमित शाह बोले- कांग्रेस है धर्म के आधार पर बंटवारे की जिम्मेदार, मनीष तिवारी ने किया पलटवार

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि आखिर हमें इस बिल की जरूरत क्यों पड़ी? अगर कांग्रेस ने धर्म के आधार पर बंटवारा नहीं किया होता तो आज हमें इस बिल की आवश्यकता नहीं होती। कांग्रेस ने धर्म के आधार पर बंटवारा किया। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अमित शाह के इस बयान का पलटवार किया। (LIVE UPDATES)

मनीष तिवारी ने कहा कि आज गृहमंत्री ने कहा है कि धर्म के आधार पर बंटवारे को लेकर कांग्रेस जिम्मेदार है। मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि दो राष्ट्र सिद्धांत की नींव 1935 में अहमदाबाद में सावरकर ने हिंदू महासभा के सत्र में रखी थी न कि कांग्रेस ने।

सदन में बहस के दौरान अमित शाह ने कहा कि नागरिकता विधेयक में संशोधन करना भाजपा के घोषणापत्र का हिस्सा रहा है और इसे 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में लोगों की मंजूरी मिली है। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि हम पूर्वोत्तर की स्थानीय संस्कृति एवं रीति रिवाज का संरक्षण करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

ये भी पढ़ें: नागरिकता संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश, अमित शाह ने बताया- क्यों पड़ी बिल लाने की जरूरत; पढ़ें 10 खास बातें

अमित शाह यह विधेयक किसी के अधिकारों को छीनने के लिए नहीं, बल्कि अधिकार देने के लिए है। इससे पहले शाह ने लोकसभा में विधेयक को चर्चा एवं पारित करने के लिए रखते हुए कहा कि हम पूर्वोत्तर की स्थानीय संस्कृति एवं रीति रिवाज का संरक्षण करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

गृह मंत्री ने कहा कि हम पूर्वेात्तर के लोगों का आह्वान करते हैं कि वे किसी उकसावे में नहीं आएं। उन्होंने कहा कि यह विषय हमारे घोषणापत्र में शामिल रहा है जो जनभावनाओं का प्रतिनिधित्व करता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Citizenship Amendment Bill 2019: congress leader manish tiwari reply after Amit shah attacks