DA Image
24 सितम्बर, 2020|12:52|IST

अगली स्टोरी

घुसपैठ की कोशिश हो गई नाकाम तो चीन ने बदली चाल, बातचीत का राग अलाप बोला-...तो बढ़ जाएंगी मुश्किलें

china

सीमा पर तनाव के बीच भारतीय सेना ने एक बार फिर से चीनी सैनिकों के मंसूबे पर पानी फेरा और उनकी घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर खदेड़ दिया। भारत-चीन के बीच ताजा तनाव को लेकर चीनी विदेश मंत्री वांग यी की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। उन्होंने कहा कि भारत और चीन को अपने मतभेदों को नियंत्रित करने की आवश्यकता है और उन्हें संघर्ष में बदलने देना ठीक नहीं है। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने एक विदेशी दर्शक को बताया है कि बीजिंग विवादित चीन-भारत सीमा के साथ स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। चीन बातचीत के माध्यम से नई दिल्ली के साथ मतभेदों को हल करने के लिए भी तैयार है। साथ ही वांग ने कहा कि सीमा पर तनाव के लिए भारत जिम्मेदार है। 

चीनी विदेश मंत्री ने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों में दोनों देशों के बीच की समस्याओं को सही जगह रखा जाना चाहिए। भारतीय सेना और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने जब एक दूसरे पर दक्षिण-पूर्व पैंगोंग त्सो और रेकिन में तनाव के एक नए युद्ध को शुरू करने का आरोप लगाया था। उसके थोड़ी देर बाद वांग सोमवार को पेरिस में प्रतिष्ठित फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस में बोल रहे थे। 

भारत ने सोमवार को कहा कि उसने चीन द्वारा दक्षिणी तट पर स्थित पैंगोंग झील में एलएसी के साथ यथास्थिति को बदलने के लिए "उत्तेजक सैन्य आंदोलनों" को पहले ही खाली कर दिया।  इस घटना ने कूटनीतिक और सैन्य वार्ता के कई दौर के बाद भी विघटन और डी-एस्केलेशन प्रक्रिया में अग्रगामी आंदोलन की कमी लाई। इस बीच, फ्रांस और जर्मनी में ठहराव सहित एक सप्ताह के पांच देशों के यूरोप दौरे पर आए वांग ने भाषण दिया और चीन, भारत और दुनिया के वरिष्ठ यूरोपीय राजनेताओं और अधिकारियों से सवाल किए।

बता दें कि लद्दाख में एक बार फिर घुसपैठ की कोशिश नाकाम होने के बाद चीन इस बात से साफ तौर पर मुकर गया है कि उसके सैनिकों ने सीमा पार करने की कोशिश की। भारत और चीनी सैनिकों के बीच 29-30 की दरम्यानी रात झड़प की सूचना के बीच चीनी विदेश मंत्रालय ने खुद को पाक साफ बताते हुए कहा है कि चीनी सैनिकों ने सख्ती से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल का पालन किया है।

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, चाइनीज विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि चीनी सीमा सैनिकों ने हमेशा लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल का सख्ती से पालन किया है और कभी सीमा को पार नहीं किया है। चीनी पक्ष ने यह भी कहा है कि जमीनी मुद्दे को लेकर दोनों देशों की सेनाओं की बीच बातचीत चल रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chinese Minister said Indo China border will not increase if difficulties are fixed