DA Image
18 सितम्बर, 2020|10:16|IST

अगली स्टोरी

LAC पर भारत की आक्रामकता और राफेल से घबराया चीन, पाकिस्तान को देगा घातक लड़ाकू ड्रोन

xi jinping meets  imran khan at the great hall of the people in beijing  china   november 2  2018 re

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव के बीच चीन भारत को घेरने के लिए पाकिस्तान को मोहरा बनाना चाहता है। चीन एक तरफ पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे पर समर्थन कर रहा है। वहीं अब उसकी योजना पाकिस्तान को घातक हथियारों से लैस करने की है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्रस्तावित यात्रा को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

पूर्व विदेश सचिव शशांक ने कहा कि यदि जिनपिंग की पाकिस्तान यात्रा होती है, तो उसमें नए रक्षा सौदे हो सकते हैं। पूर्व विदेश सचिव ने कहा चीन ने मान लिया है कि भारत के साथ मिलकर वह नहीं चल पाएगा। वह पाकिस्तान से मिलकर कुछ इस्लामिक देशों का साथ चाहेगा। पाकिस्तान के साथ हथियारों की डील कर सकता है।

चीन से तनातनी के बीच लद्दाख में तैनात किए गए HAL के बनाए 2 हल्के लड़ाकू विमान

उन्होंने कहा कि जिनपिंग पिछली बार पाकिस्तान गए थे तो करीब 50 समझौते हुए थे। अब चीन के साथ नए समझौते की कोशिश होगी। निश्चित रूप से भारत पर इसका असर होगा। शशांक ने कहा, "पाकिस्तान हमेशा मोहरा बनने को तैयार है।" उन्होंने कहा चीन ने उत्तर कोरिया को जिस तरह मदद की है वैसे ही पाकिस्तान की मदद कर रहा है। इसको आगे बढ़ाया जाएगा। चीन अगले 20 साल मे दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्ति बनना चाहता है।

शशांक ने कहा, "चीन पाकिस्तान को उत्तर कोरिया की तरह बनाना चाहेगा। साथ मे वह ईरान और अफगानिस्तान को भी साथ लेकर चलना चाहेगा।" गौरतलब है कि जिनपिंग के पाकिस्तान दौरे की तारीख अभी तय नहीं हुई है। माना जा रहा है कि पाक विदेश मंत्री इस महीने के अंत तक चीन जाएंगे। जिनपिंग को इसी साल जून में ही पाकिस्तान जाना था, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से ये दौरा नहीं हो सका।

चीन से तनाव: IAF चीफ ने लिया फ्रंटलाइन बेस का जायजा, मिग-21 बाइसन जेट में भरी उड़ान

माना जा रहा है कि पाकिस्तान हथियारों से लैस आधुनिक ड्रोन सीएच - 4 यूसीएवी यानी अनमैन्ड कॉम्बैट एरियल वेहिकल हासिल करना चाहता है। कहा जा रहा है कि दिसंबर 2020 तक चीन ये अत्याधुनिक ड्रोन पाकिस्तान को सौंप देगा। ये बेहद घातक लड़ाकू ड्रोन माना जाता है। जो तेजी से हमला करने में सक्षम है और इसकी जासूसी की रेंज काफी ज्यादा है। इससे 350 किलोग्राम तक वजनी हथियार साथ ले जा सकता है। इसे रात और दिन दोनों ही समय काम कर सकता है।

पाकिस्तान की नौसेना को भी चीन मजबूत करने में जुटा हुआ है। इसके सबूत सैटेलाइट तस्वीर से मिले हैं। दरअसल जब से राफेल भारतीय वायुसेना के पास आया है चीन और पाकिस्तान दोनों में बौखलाहट है। सीमा पर भी भारत का आक्रामक रुख चीन को रास नही आया है। इसलिए वह पर्दे के पीछे भारत के खिलाफ साजिश में जुटा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:China Use Pakistan Against India