China Can Do Doklam Incident Again in Arunachal Pradesh BJP MP Warn - अरुणाचल में फिर हो सकती है डोकलाम जैसी घटना, चीन को लेकर भाजपा सांसद ने किया सावधान DA Image
6 दिसंबर, 2019|4:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरुणाचल में फिर हो सकती है डोकलाम जैसी घटना, चीन को लेकर भाजपा सांसद ने किया सावधान

Arunachal Pradesh

अरुणाचल प्रदेश से भाजपा सांसद तापिर गाव ने कहा है कि चीन ने राज्य की 50-60 किलोमीटर क्षेत्र पर कब्जा कर रखा है। लोकसभा में इस मुद्दे को उठाते हुए उन्होंने कहा कि अगर वह इस मुद्दे को संसद के अंदर नहीं उठाएंगे तो आने वाली पीढ़िया उन्हें माफ नहीं करेगी। उन्होंने सरकार को आगाह करते हुए कहा कि यदि कोई डोकाला होगा, तो वह अरुणाचल प्रदेश में होगा।

लोकसभा में शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाते हुए अरुणाचल प्रदेश से जुड़े मुद्दों को विभिन्न पार्टियों के नेता और मीडिया ज्यादा तरजीह नहीं देता, जबकि पाकिस्तान के कराची में सामान का भाव भी अखबारों में छपता है। उन्होंने कहा कि चीन भारतीय क्षेत्र में कब्जा करता है, पर किसी मीडिया में कोई खबर नहीं आती। इस सदन और राजनीतिक दलों के नेताओं की तरफ से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आती।

तापिर गाव ने कहा कि इस सदन के जरिए वह सरकार को बताना चाहते हैं कि दूसरा डोकाला होगा, तो वह अरुणाचल प्रदेश में होगा। वह दिन कभी नहीं आए, इसके लिए सरकार को फौरन कदम उठाने चाहिए।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की तवांग यात्रा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस पर आपत्ति जताई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जाने पर भी चीन ने विरोध जताया था, पर हमारी सरकार और इस सदन की तरफ से चीन की आपत्ति पर कुछ नहीं कहा गया।

एसपीजी हटाने को लेकर हंगामा
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की एसपीजी सुरक्षा हटाने को लेकर लोकसभा में मंगलवार (19 नवंबर) को भी हंगामा हुआ। कांग्रेस के सदस्यों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के आसन के करीब आकर हंगामा किया, जबकि एनसीपी और डीएमके के सदस्य अपनी सीट पर खड़े रहे। शून्यकाल के दौरान कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने इस मुद्दे को उठाने की कोशिश की, लेकिन  लोकसभा अध्यक्ष ने यह कहते हुए अनुमति नहीं दी कि वह सोमवार को इस मुद्दे को उठा चुके हैं।

फारूख अब्दुल्ला को सदन में बुलाया जाए
लोकसभा में विपक्षी दलों के सदस्यों ने जम्मू-कश्मीर से नेशनल कांफ्रेंस के सांसद फारूख अब्दुल्ला को हिरासत से रिहा करने और उन्हें संसद के शीतकालीन सत्र में शामिल होने की इजाजत देने की मांग दूसरे दिन भी की। लोकसभा में शून्यकाल के दौरान तृणमूल कांग्रेस, बसपा तथा नेकां सांसदों ने सीटों पर खड़े होकर मांग की। तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय ने कहा कि अब्दुल्ला को रिहा किया जाए। बसपा के दानिश अली ने कहा कि उनको (लोकसभा के सत्र में)  बुलाया जाए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:China Can Do Doklam Incident Again in Arunachal Pradesh BJP MP Warn