ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशलगाता रहा गुहार: छेड़छाड़ के आरोप में पुलिस ने बेटे को पकड़ा तो पिता ने लगा ली फांसी

लगाता रहा गुहार: छेड़छाड़ के आरोप में पुलिस ने बेटे को पकड़ा तो पिता ने लगा ली फांसी

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लालकुर्ती थाना क्षेत्र के तोपखाना में सोमवार शाम एक बुजुर्ग ने फांसी लगाकर जान दे दी। बुजुर्ग के बेटे को पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोप में हिरासत में ले रखा था। फांसी लगाने से पहले...

लगाता रहा गुहार: छेड़छाड़ के आरोप में पुलिस ने बेटे को पकड़ा तो पिता ने लगा ली फांसी
Shankarलाइव हिन्दुस्तान टीम,मेरठTue, 15 Oct 2019 06:24 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लालकुर्ती थाना क्षेत्र के तोपखाना में सोमवार शाम एक बुजुर्ग ने फांसी लगाकर जान दे दी। बुजुर्ग के बेटे को पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोप में हिरासत में ले रखा था। फांसी लगाने से पहले बुजुर्ग ने थाने आकर बेटे को झूठा फंसाने की बात कहते हुए फांसी लगाने की चेतावनी दी थी। पुलिस ने मामले को हल्के में लिया और उनकी बात को अनसुना कर दिया। बुजुर्ग के खुदकुशी करते ही पुलिस ने हिरासत में लिए युवक को छोड़ दिया। परिजन अब लड़की पक्ष के खिलाफ तहरीर देने की तैयारी में हैं।

भाजपा नेता से भी कही थी खुदकुशी की बात
रविवार को तोपखाना क्षेत्र निवासी युवती ने वहीं के रहने वाले महेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। महेश पर छेड़खानी, मारपीट और तेजाब फेंकने की धमकी देने का आरोप लगाया था। लालकुर्ती पुलिस ने सोमवार सुबह महेश के बड़े भाई राकेश को हिरासत में ले लिया। दोपहर में राकेश के पिता राजेश शर्मा (58) लालकुर्ती थाने पहुंचे। उन्होंने बेटे को झूठा फंसाने का आरोप लगाया। कहा कि आरोप लगाने वाली युवती उनके घर आती-जाती रहती थी। दोनों एक-दूसरे को जानते हैं। उन्होंने थाने में कहा कि यदि बेटे को नहीं छोड़ा गया तो वह फांसी लगा लेंगे। पुलिस ने उनकी बात को अनसुना करते हुए थाने से वापस भेज दिया। सोमवार शाम करीब साढ़े चार बजे राजेश शर्मा ने घर में पंखे से लटककर फांसी लगाकर जान दे दी। लालकुर्ती पुलिस को जैसे ही यह जानकारी लगी तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस ने कई घंटे से लॉकअप में बंद राकेश को रिहा कर दिया। पीड़ित परिजनों ने बताया कि लड़की पक्ष उन्हें लगातार परेशान कर रहा था। दिन में भी कई बार घर पर आकर धमकी देकर गए थे।
 
तोपखाना की लड़की ने रविवार रात छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराया था। लालकुर्ती पुलिस आरोपी की तलाश में गई, लेकिन वह नहीं मिला। पूछताछ के लिए पुलिस उसके छोटे भाई को थाने पर लाई थी। पूछताछ के बाद उसे छोड़ भी दिया गया। बेटे के कृत्य से उसके पिता परेशान थे। इसके अलावा लड़की पक्ष से भी उनकी नोकझोंक हो गई थी। संभवत: इसी वजह से उन्होंने फांसी लगाई है। शव पोस्टमार्टम को भेज दिया गया है। धवल जयसवाल, एएसपी कैंट
 
भाजपा के कैंट महामंत्री विशाल ने बताया कि वह दोपहर करीब दो बजे जरूरी काम से लालकुर्ती थाने गए थे। उन्हें राकेश वहां बैठा हुआ मिला। वह राकेश को पहले से जानते हैं। उन्होंने अपने मोबाइल से राकेश की बात उसके पिता से कराईं। विशाल ने बताया कि उस वक्त भी राकेश के पिता राजेश बार-बार फांसी लगाने की बात कह रहे थे। तब विशाल ने उन्हें यह कहकर शांत कर दिया कि यह इतना बड़ा मामला नहीं है और राकेश छूट जाएगा।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें