DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत्तीसगढ़ चुनाव : किसी सीट पर जमानत तक नहीं बचा सकी AAP, मिले 1% से भी कम वोट

अरविंद केजरीवाल  (PTI File Photo)

छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने राज्य के 90 सीटों में से 85 सीटों पर चुनाव लड़ा लेकिन किसी भी सीट पर उसके प्रत्याशी जमानत नहीं बचा पाए। दिल्ली में भारी बहुमत से सरकार बनाने से उत्साहित आम आदमी पार्टी ने छत्तीसगढ़ में भी चुनाव लड़ने का फैसला किया था। पार्टी ने राज्य में 85 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे। पार्टी ने राज्य के बहुसंख्यक आदिवासियों को आकर्षित करते हुए भानुप्रतापपुर विधानसभा सीट से युवा कोमल हुपेंडी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया था। लेकिन हुपेंडी जमानत नहीं बचा पाए। हुपेंडी को महज 9634 वोट मिले हैं।

चुनाव आयोग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में आम आदमी पार्टी को एक फीसदी से भी कम वोट मिला है। जबकि नोटा को उससे दोगुना, दो फीसदी मत मिला है। आम आदमी पार्टी ने राज्य में चुनाव के दौरान भाजपा सरकार के खिलाफ जोर शोर से कई मुददे उठाए और कई वरिष्ठ नेताओं ने यहां सभाएं भी की। लेकिन पार्टी को इसका लाभ नहीं मिल पाया। वहीं पार्टी के राज्य संयोजक संकेत ठाकुर को रायपुर ग्रामीण सीट पर 1096 वोट से ही संतोष करना पड़ा। राज्य में बड़ी हार के बाद ठाकुर ने अपना इस्तीफा दे दिया है। ठाकुर ने कहा है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की पराजय की जिम्मेदारी स्वीकारते हुए उन्होंने प्रदेश संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया है।
भूपेश बघेल: 5 बार जीत चुके हैं विधानसभा चुनाव, जानिए नए सीएम का राजनीतिक करियर

राज्य में हार को लेकर ठाकुर कहते हैं कि पार्टी ने पिछले पांच साल खूब मेहनत की और मुद्दों को प्रमुखता से उठाया लेकिन जनता ने कांग्रेस को मजबूत मानते हुए उसे वोट देना ठीक समझा। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार विरोधी माहौल था और जनता त्रस्त थी। जनता ने महसूस किया कि कांग्रेस ही भाजपा से लड़ सकती है। इसलिए उन्होंने कांग्रेस को जनादेश दिया। ठाकुर कहते हैं कि कांग्रेस लहर के बावजूद 1.25 लाख मतदाताओं ने अपना वोट देकर हम पर भरोसा व्यक्त किया है। अब हम नगरीय निकाय चुनाव में भी जाएंगे। उम्मीद है कि इस चुनाव में पार्टी को सफलता मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chhattisgarh election 2018 aam aadmi party worst defeat got less than 1 percent vote