DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › पाकिस्तान की हरकतों पर कसी लगाम, मार्च में सीजफायर की नहीं हुई एक भी घटना, जून में सिर्फ दो
देश

पाकिस्तान की हरकतों पर कसी लगाम, मार्च में सीजफायर की नहीं हुई एक भी घटना, जून में सिर्फ दो

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Priyanka
Tue, 03 Aug 2021 03:08 PM
पाकिस्तान की हरकतों पर कसी लगाम, मार्च में सीजफायर की नहीं हुई एक भी घटना, जून में सिर्फ दो

जम्मू-कश्मीर में केंद्र की सख्ती और सुरक्षा बलों की मुस्तैदी रंग लाने लगी है और पाकिस्तान की हरकतों पर लगाम कस गई है। पाकिस्तान की ओर से होने वाली सीजफायर उल्लंघन में इस साल भारी कमी देखने को मिली है। गृह मंत्रालय की ओर से दिए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, इस साल मार्च माह में एक भी बार सीजफायर उल्लंघन नहीं किया गया, जबकि साल 2018 में इसी दौरान सीजफायर की 203 घटनाएं हुई थीं।

लोकसभा में गृह मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि इस साल जनवरी में सीजफायर की 380 घटनाएं हुईं, फरवरी में यह आंकड़ा 278 था और मार्च में शून्य। इसके बाद अप्रैल में 1 बार, मई में 3 बार और जून में 2 बार सीजफायर उल्लंघन हुआ। 

गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान की ओर से साल 2018 में 2140 बार, 2019 में 3479 बार और साल 2020 में 5133 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया। वही, साल 2021 में अब तक पाकिस्तान ने 664 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। 

आंकड़ों के मुताबिक, बीते साल जुलाई महीने में सबसे ज्यादा 482 बार संघर्षविराम का उल्लंघन हुआ था। इसके बाद अक्टूबर महीने में 459 बार संघर्षविराम का उल्लंघन हुआ था। हालांकि, इस साल लगातार आकंड़े घटे हैं। 

संबंधित खबरें