DA Image
27 अक्तूबर, 2020|2:20|IST

अगली स्टोरी

तीन तलाक के 273 मामलों में केस दर्ज: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंदिरागांधी प्रतिष्ठान में राज्य अल्पसंख्यक कल्याण बोर्ड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कहा कि पिछले एक साल में राज्य में तीन तलाक के कुल 273 मामले प्रकाश में आए। इन सभी मामलों में पुलिस में एफआईआर दर्ज करवाई गई। 

उन्होंने बताया कि इनमें सबसे ज्यादा 95 मामले मेरठ जोन से आए जबकि बरेली जोन से 63 मामले और लखनऊ जोन से 36 मामले आए। संवाद के दौरान तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं की आम शिकायत यही रही की उनके दर्ज मामलों में पुलिस लापरवाही बरतती है और रिश्वत न देने पर परेशान करती है। 

मुख्यमंत्री ने इन शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए अपने सम्बोधन में कई बार कहा कि ऐसे मामलों में लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। इस मौके पर तीन तलाक पीड़िता मुस्लिम महिलाओं को उपहार भी दिए गए। उनके बच्चों को चाकलेट और खिलौने मिले तो इन महिलाओं को शाल भेंट किए गए। दोपहर का भोजन भी करवाया गया। इस दौरान बच्चों को अन्य उपहार दे दिए।

409 करोड़ की विकास योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम में प्रदेश के अल्पसंख्यक बाहुल इलाकों में प्रधानमंत्री जन विकास योजना में मिले धनराशि से 409 करोड़ की विकास योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने अल्पसंख्यक बाहुल इलाकों में 14 इण्टर कालेज, 2 हाईस्कूल, 1 अपर प्राइमरी स्कूल, 17 पेयजल आपूर्ति की योजनाओं का शिलान्यास किया। 

इसी तरह 15 राजकीय इण्टर कॉलेज, 5 राजकीय महिला डिग्री कॉलेज, 10 राजकीय पालीटेक्निक, 2 छात्रावास, 7 प्राइमरी स्कूल, 5 पेयजल आपूर्ति व 8 सद्भाव मण्डप का शिलान्यास किया गया। इस मौेके पर प्रदेश भर से आई तलाक पीड़ित महिलाओं के अलावा तमाम अफसर व मंत्री भी मौजूद थे।

शौहर के पीछे छोड़ा अपना शहर

आगरा की रहने वाली रूही फातिमा की शादी एमएससी करने के बाद परिवार वालों ने साल 2014 में कर दी थी। जिसके कुछ ही महीनों बाद शौहर ने दहेज के लिए उसको मारना पीटना शुरू कर दिया। 2018 में आगरा के थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचीं, जहां पुलिस ने दो लाख रुपये मांगे। ससुराल वालों के डर और पुलिस की मदद न मिलने के कारण मैं अपनी पांच साल की बेटी संग अलीगढ़ रहने आ गई।

मुख्यमंत्री ने समझा हमारा दर्द

गोंडा की रहने वाली हिना फातिमा ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगे बढ़ मुस्लिम महिलाओं के दर्द को सुना और मौजूदा सरकार ने आगे बढ़ हम लोगों का साथ दिया है।

सरकार कर रही सशक्त

जौनपुर की रहने वाली रेशमा बानो ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा मुस्लिम महिलाओं की बड़ी परेशानी तीन तलाक को मुद्दा बना बिल को पास कराने से महिलाओं को हिम्मत मिली है।

कोर्ट की भागदौड़ में हार जाती हैं महिलाएं

सिद्धार्थनगर की हसीना ने बताया कि मुस्लिम महिलाओं के लिए बनाए कानून तो अच्छे हैं पर अब भी उनको हक नहीं मिल पाता है जिसके पीछे पुलिस वालों का ढीला रवैय्या है। मुझे विश्वास है कि यह सरकार महिलाओं को न्याय दिलाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:case registered in triple talaq s 273 cases says yogi adityanath