DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

9 कॉल्स और कई व्हाट्सएप मैसेज के बाद CBI अधिकारी राकेश अस्थाना पर केस

The CBI has registered a case against its special director Rakesh Asthana on the basis of claims mad

सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को कथित घूस देने के आरोप में बिचौलिए मनोज प्रसाद की गिरफ्तारी को लेकर सीबीआई ने दावा किया है कि उसकी गिरफ्तारी किए जाने के बाद हुए नौ फोन कॉल्स किए गए। अधिकारी ने बताया कि सीबीआई ने एफआईआर से पहले 9 फोन कॉल रेकॉर्ड किए थे और जांच एजेंसी का दावा है कि बिचौलिए मनोज प्रसाद की गिरफ्तारी के बाद हड़बड़ी में उसके भाई ने कई फोन किए। 

अधिकारी ने बताया कि व्यवसायी सतीश साना की तरफ से यह दावा किए जाने के बाद उसे लगातार समन से छूट और केस से क्लीन चिट देने के लिए दुबई के इन्वेस्टमेंट बैंकर के जरिए पांच करोड़ रूपये देने को कहा गया था। इसके आधार पर जांच एजेंसी ने अस्थाना के खिलाफ केस दर्ज किया।

हैरानी की बात ये है कि सीबीआई के सेकेंड इन कमांड अस्थाना ने करीब दो महीने पहले कैबिनेट सचिव को यह बताया था कि साना ने केस से राहत पाने के लिए सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को 2 करोड़ रूपये घूस दी है।

हालांकि, एजेंसी ने रविवार को यह दावा किया कि साना मजिस्ट्रेट के सामने पेश होकर यह बताया कि उसने दिसंबर 2017 से लेकर अक्टूबर 2018 के बीच एक बिचौलिए को पैसे दिए थे। जिसका उद्देश्य उसके अस्थाना से कनेक्शन के चलते राहत पाना था।

दावे के आधार पर एजेंसी ने दुबई से वापस घूस के इंस्टॉलमेट के पैसे लेकर आ रहे मनोज प्रसाद को 16 अक्टूबर को गिरफ्तार किया।

ये भी पढ़ें: CBI ने अपने ही स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना के खिलाफ दर्ज की FIR

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Case on CBI officer after nine calls and several WhatsApp messages