ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशखालिस्तानी आतंकी निज्जर के लिए कनाडा की संसद में रखा गया मौन, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

खालिस्तानी आतंकी निज्जर के लिए कनाडा की संसद में रखा गया मौन, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

हरदीप निज्जर के लिए मौन रखे जाने के मामले पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पलटवार करते हुए कहा, ''हम अतिवाद को राजनीतिक जगह देने के किसी भी कदम का विरोध करते हैं।''

खालिस्तानी आतंकी निज्जर के लिए कनाडा की संसद में रखा गया मौन, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 21 Jun 2024 08:53 PM
ऐप पर पढ़ें

India Canada Tension: कनाडा की संसद ने पिछले दिनों खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर के लिए मौन रखा था, जिस पर खूब विवाद हुआ। भारत ने कनाडा की इस हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया है और उसके कदम का विरोध जताया है। हरदीप निज्जर एक खालिस्तानी आतंकी था, जिसकी पिछले साल कनाडा में हत्या कर दी गई थी। कनाडा की ट्रूडो सरकार ने निज्जर की हत्या को लेकर भारत पर निशाना साधा था और गंभीर आरोप लगाए थे।

हरदीप निज्जर के लिए मौन रखे जाने के मामले पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पलटवार करते हुए कहा, ''हम अतिवाद को राजनीतिक जगह देने के किसी भी कदम का विरोध करते हैं।'' मंत्रालय ने यह भी कहा कि भारत ने दिल्ली में कनाडाई उच्च वाणिज्य दूतावास के समक्ष विरोध जताया है और उचित कार्रवाई की मांग की है। इससे पहले भी भारत ने कनाडा को इस मामले में जवाब दिया था और वैंकूवर में भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने 1985 में एयर इंडिया की फ्लाइट 182 कनिष्क पर कनाडा के खालिस्तानी आतंकवादियों द्वारा किए गए बम विस्फोट के 329 पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने की घोषणा की थी। 

महावाणिज्य दूतावास ने एक्स पर पोस्ट किया था, "भारत आतंकवाद के खतरे का मुकाबला करने में सबसे आगे है और इस वैश्विक खतरे से निपटने के लिए सभी देशों के साथ मिलकर काम करता है। 23 जून 2024 को एयर इंडिया की उड़ान 182 (कनिष्क) पर कायरतापूर्ण आतंकवादी बम विस्फोट की 39वीं वर्षगांठ है, जिसमें 86 बच्चों सहित 329 निर्दोष पीड़ितों ने अपनी जान गंवा दी।" महावाणिज्य दूतावास ने आगे कहा, "23 जून 2024 को 1830 बजे स्टेनली पार्क के सेपरले प्लेग्राउंड क्षेत्र में एयर इंडिया मेमोरियल में एक स्मारक सेवा निर्धारित की गई है। वैंकूवर में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए भारतीय प्रवासियों को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया है।"

निज्जर के लिए रखा गया था मौन
हरदीप सिंह निज्जर की याद में कनाडा की संसद में मौन पिछले दिनों रखा गया। न्यूज एजेंसी आईएएनएस द्वारा जारी एक वीडियो में सांसदों को मौन रखते हुए देखा जा सकता है। इसी दौरान स्पीकर ग्रेग फर्गस ने कहा कि मुझे लगता है कि हरदीप सिंह निज्जर की याद में मौन रखने के लिए एक सहमति बनी है, जिसकी आज से एक साल पहले सरे में हत्या कर दी गई थी। खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की पिछले साल कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में एक गुरुद्वारे के बाहर हत्या कर दी गई थी।

भारत में बम ब्लास्ट का आरोपी था निज्जर
निज्जर खालिस्तानी टाइगर फोर्स का मास्टरमाइंड होने की वजह से भारत में वॉन्टेड था। साल 2007 में पंजाब के एक सिनेमा में हुए बम ब्लास्ट का आरोपी भी था। पिछले साल जुलाई में, आतंकवाद विरोधी एजेंसी एनआईए ने पंजाब के जालंधर में एक हिंदू पुजारी की हत्या के सिलसिले में निज्जर को पकड़ने के लिए 10 लाख रुपये का नकद इनाम घोषित किया था। निज्जर की हत्या के बाद कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भारत पर गंभीर आरोप लगाए थे और दावा किया था कि भारत सरकार के एजेंट कनाडाई नागरिक निज्जर की हत्या में शामिल थे। संसद में दिए गए ट्रूडो के बयान के बाद भारत और कनाडा के रिश्ते खराब हो गए थे। ट्रूडो के आरोपों को भारत ने सिरे से खारिज किया है।