Cabs spreading five times more pollution than private cars - चिंताजनक: निजी कारों से पांच गुना ज्यादा प्रदूषण फैला रहीं कैब DA Image
13 दिसंबर, 2019|1:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिंताजनक: निजी कारों से पांच गुना ज्यादा प्रदूषण फैला रहीं कैब

a view of traffic amid heavy smog  at ring raod  near feroz shah kotla mosque  in new delhi  on frid

निजी वाहनों की तुलना में कैब या टैक्सी सेवा में चलने वाले वाहन पांच गुना ज्यादा प्रदूषण फैलाते हैं। सफर के हालिया शोध से इसका खुलासा हुआ है।

अध्ययन के मुताबिक, कैब के तौर पर इस्तेमाल होने वाले वाहन आमतौर पर साल में एक लाख 45 हजार किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तय करते हैं। यह निजी वाहनों की तुलना में पांच गुना ज्यादा है। निजी कारों का औसत पच्चीस से तीस हजार के लगभग ही है। इस अनुसार देखा जाए तो कैब में चलने वाले वाहनों से होने वाले प्रदूषण की मात्रा काफी ज्यादा हो जाती है।

हर दिन आते हैं 11 लाख वाहन : शोध के मुताबिक, दिल्ली के सिर्फ आठ प्रमुख प्रवेश मार्गों से ही हर दिन 11 लाख से ज्यादा वाहन प्रवेश करते हैं। इसलिए दिल्ली की सड़कों पर इनकी संख्या 25 से लेकर 45 फीसदी तक हो सकती है। इसलिए दिल्ली में अन्य जगहों से आने वाले वाहनों की भी प्रदूषण में बड़ी हिस्सेदारी है। शोध एक और खास बात की तरफ इशारा करता है। छुट्टी के दिन जहां दिल्ली की ज्यादातर सड़कों पर वाहनों की संख्या कम होती है, वहीं इंडिया गेट, कश्मीरी गेट और एयरपोर्ट के आसपास की सड़कों पर वाहनों की तादाद में इजाफा हो जाता है।

सुस्त रफ्तार से दिक्कत: दिल्ली की सड़कों पर वाहनों की भारी संख्या के चलते वाहनों की रफ्तार कम हो जाती है। सड़कों पर औसतन 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से वाहन चलते हैं। इसके चलते इनसे होने वाला कार्बन उत्सर्जन भी ज्यादा होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cabs spreading five times more pollution than private cars