DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  हिंसा-आगजनी से रात भर सुलगती रही दिल्ली, डर के साए में जी रहे लोग, जानें हिंसाग्रस्त इलाकों का आखों देखा हाल

देशहिंसा-आगजनी से रात भर सुलगती रही दिल्ली, डर के साए में जी रहे लोग, जानें हिंसाग्रस्त इलाकों का आखों देखा हाल

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Shankar
Tue, 25 Feb 2020 10:44 AM
CAA Protest delhi violence know live Situation of jaffrabad maujpur babarpur gokulpuri
1 / 2CAA Protest delhi violence know live Situation of jaffrabad maujpur babarpur gokulpuri
delhi violence
2 / 2delhi violence

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पक्ष-विपक्ष में टकराव ने दिल्ली को एक बार फिर अशांत कर दिया। नागरिकता संशोधन के पक्ष और विपक्ष में प्रदर्शन करने वालों ने दिल्ली की सड़कों पर सोमवार को बवाल काटा और दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके को हिंसा की आग में झोंक दिया। उत्तर पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में बीती रात भी हालात पूरी तरह नहीं शांत हुए थे। सोमवार की देर रात भर छिटपुट हिंसा का दौर चलता रहा। इस दौरान दमकल को आग की सौ से अधिक कॉल मिलीं। सीएए को लेकर नॉर्थ दिल्ली के भजनपुरा, करावल नगर और चांदबाग इलाकों में हुई हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत कुल पांच लोगों की मौत हो गई है और 57 लोग घायल हो गए हैं। सोमवार की हिंसा में तीन दमकलकर्मी भी घायल हुए थे।

रात भर चला छिटपुट हिंसा का दौर, दुकानों में लूट और वाहनों में लगाई आग 
उत्तर पूर्व के हिंसा प्रभावित इलाकों में रात में भी स्थिति बदतर बनी रही। पूरी रात छिटपुट हिंसा और दुकानों में लूट-पाट का दौर चलता रहा है। रात में वाहनों में आग लगाने का सिलसिला जारी रहा। जानकारी के अनुसार गोकलपुरी, घोंडा, भजनपुरा और यमुना विहार के विभिन्न इलाकों में रात भर छिटपुट हिंसा होती रही। भीड़ ने दुकानों में लूटपाट की और वाहनों में आग लगा दी। हालांकि, पुलिस बल के पहुंचने पर भीड़ मौके से गायब हो जाती थी। इसलिए कहीं भी पुलिस से आमना-सामना नहीं हुआ। आज यानी मंगलवार सुबह करीब आठ बजे मौजपुर चौक पर भीड़ ने दो बाइक में आग लगा दी और एक युवक को बुरी तरह पीटा भी। फिलहाल इलाके में पुलिस बल तैनात है।

करावल नगर रोड और चांद बाग पुलिया में क्या है हाल

-इन इलाकों में रात भर लोगों ने घरों के बाहर बैठकर रखवाली की है। रात भर आग जलाकर लोग बैठे रहे। अभी सुबह उठते ही सब लोग इस डर के मारे कि आगे कर्फ्यू लगेगा और हालात बिगड़ेंगे, लोग आटा-नमक परचून का सामान सब इकट्ठा कर स्टोर कर रहे हैं।

-मूंगा नगर पांच नंबर गली में छह के एक दुकान वाले ने बताया कि वह 25 किलो दूध उसका रोज निकलता था। आज दूध वाला नहीं आया तो वह खुद सुबह जल्दी जाकर 50 किलो दूध लेकर आया और 20 मिनट में सारा दूध उसका बिक गया। इन इलाकों के लोग डरे हुए हैं और सामान इकट्ठा कर रहे हैं, यह सोच कर कि वे आगे घर से नहीं निकल पाएंगे।

-करावल नगर रोड पर भजनपुरा से शेरपुर चौक के बीच रात में 1 बजे तक रुक-रुक कर दो गुटों में नारेबाजी होती रही। लोगों का आरोप है पुलिस कम थी और तैनाती भी लेट की गई।  

-इस समय करावल नगर रोड पर जो सामान जला हुआ है, वह दुकानों का सामान है। सड़कों पर सारा सामान पड़ा हुआ है। सड़क जगह-जगह बंद है। 8 से 10 सिपाही जगह-जगह तैनात हैं। लेकिन उनकी संख्या कम है। ज्यादातर लोग अपने घरों के आसपास गलियों में बात कर रहे हैं। लोगों में कुछ लोग पत्थर इकट्ठे करके छत पर रख रहे हैं कि कोई परेशानी हुई कोई आया तो हम अपनी रक्षा कर सकेंगे।

-चांद बाग करावल नगर रोड सभी कॉलोनियों में केवल कुछ जगह गेट लगे हैं। चारों तरफ से बंद नहीं है। लोग कहीं से भी घुस जाते हैं, इस वजह से भी रात को पहरेदारी कर रहे थे।

- चांद बाग, मुस्तफाबाद, चंदु नगर, मूंगा नगर, करावल नगर रोड की जिस कॉलोनी में मुस्लिम ज्यादा हैं वहां रहने वाले हिन्दू रात में अपने आसपास रहने वाले रिश्तेदारों और परिचित के घर चले गए। इसी तरह जहां हिन्दू ज्यादा हैं वहां रहने वाले मुस्लिम चले गए।

पिंक लाइन पर वेलकम तक ही सेवाएं
उत्तर पूर्वी जिले में हिंसा के चलते पिंक लाइन के चार स्टेशन गोकुलपुर, जाफराबाद, मौजपुर और जोहरी एनक्लेव मेट्रो की सेवाएं बंद है। पिंक लाइन पर मेट्रो का परिचालन मजलिस पार्क से वेलकम मेट्रो स्टेशन तक ही हो रहा है। उसके आगे पड़ने वाले सभी स्टेशन पर सेवाएं कल से ही ठप है, जो आज भी शुरू नहीं किया जा सका है। दिल्ली मेट्रो के मुताबिक सुरक्षा कारणों और दिल्ली पुलिस के निर्देश के बाद उन स्टेशनों पर परिचालन बंद किया गया है।

संबंधित खबरें