DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुलंदशहर: हिंसा वाली जगह के पास इज्तेमा में जुटे थे 10 लाख से ज्यादा लोग

The Bulandshahr district magistrate has said that it issued multiple notices and warning to the orga

बुलंदशहर में जिस जगह पर गोकशी के आरोप में भड़की हिंसा के चलते एक इंस्पेक्टर और एक युवक की जान गई, वहां से महज कुछ ही दूरी पर करीब 15 लाख से ज्यादा लोग तीन दिवसीय इस्लामिक धर्म सभा ‘तबलिगि इज्तेमा’ में जुटे थे।

जिला प्रशासन ने कहा कि उन्होंने कई नोटिस जारी किए थे और 30 नवंबर से 2 दिसंबर के बीच हुए इस कार्यक्रम के आयोजक को इस बारे में चेतावनी दी गई थी। नोटिस 1 और 2 दिसंबर को जारी किया गया था और 6 दिसंबर को फिर से उसका रिमाइंडर भेजा गया था।

जिला प्रशासन ने यह दावा किया कि बुलंदशहर में करीब 15 लाख मुसलमान धर्मसभा के दौरान एकत्रित हुए थे जबकि इजाजत केवल 2 लाख लोगों की थी। ये कार्यक्रम महाव गांव से करीब 40 किलोमीटर दूर हुआ था जहां पर गोकशी के आरोप में हिसा भड़की थी। डीजी, पुलिस हेडक्वार्टर के प्रवक्ता आरके गौतम ने बताया कि बुलंदशहर जिला प्रशासन ने इस बात की पुष्टि की है कि आयोजकों पर नोटिस भेजा गया था और बड़ी तादाद में एक जगह एकत्रित होने को लेकर चेतावनी दी गई थी।

भीड़ की हिंसा में एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक युवक की बुलंदशहर में मौत के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार की रात को गोकशी की साजिश की विस्तृत जांच के आदेश दिए थे। पुलिस ने इसमें दो एफआईआर दर्ज की थी एक कथित गोकशी करनेवाले और दूसरी भीड़ की हिंसा को लेकर।

ये भी पढ़ें: फौजी जीतू का भाई बोला- CM मदद करें, मेरे भाई को फंसाया जा रहा है

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bulandshahr More than 1 million people gathered in Ijtema near the place of violence