Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देश‘2000 करोड़ का पेमेंट नहीं मिला तो रोक देंगे रक्षा परियोजनाओं का काम’

‘2000 करोड़ का पेमेंट नहीं मिला तो रोक देंगे रक्षा परियोजनाओं का काम’

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMohan
Mon, 28 Jan 2019 04:18 AM
‘2000 करोड़ का पेमेंट नहीं मिला तो रोक देंगे रक्षा परियोजनाओं का काम’

सशस्त्र सेनाओं के सिविल कंस्ट्रक्शन वर्क के लिए अपनी सेवाएं देने और इन परियोजनाओं को अमल में लाने वाले मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज (एमईएस) व बिल्डर एसोसिएशन ऑफ इंडिया (बीएआई) ने एक बार फिर करोड़ों के बकाये का भुगतान न होने का मुद्दा उठाया है। बीएआई ने चेतावनी दी है कि अगर ठेकेदारों का पेमेंट जल्द न किया गया तो काम रोकना मजबूरी हो जाएगी।

ठेकेदारों का कहना है कि 1600 करोड़ की देनदारियों के लिए रक्षा मंत्रालय की ओर से पिछले साल दिवाली के बाद केवल 250 करोड़ रुपये का फंड रिलीज किया गया। इससे मौजूदा समय में ठेकेदारों की केंद्र सरकार पर बकाया राशि करीब 1600 करोड़ से बढ़कर लगभग 2000 करोड़ तक पहुंच गई है।

जो नेता सपने पूरे नहीं करते, जनता उनकी पिटाई करती है :गडकरी 

एमईएस बीएआई के अध्यक्ष परवीन महाना ने कहा, सरकार की ओर से अगर 2000 करोड़ की राशि जल्द ही रिलीज नहीं होती और ठेकेदारों का भुगतान नहीं किया जाता तो सशस्त्र सेना की सभी शाखाओं के लिए हम सभी मौजूदा निर्माण परियोजनाओं का काम समेत रखरखाव और संचालन का काम रोकने के लिए मजबूर हो जाएंगे। एसोसिएशन ने रक्षा मंत्रालय से कॉन्ट्रैक्टर्स के करोड़ों रुपये के बकाये का भुगतान जल्द करने की मांग की है। उसका कहना है कि ठेकेदारों को उस काम का भुगतान अभी तक नहीं मिला है, जो वह पिछले साल कर चुके हैं।

एमईएस बीएआई के सदस्य सशस्त्र सेना की सभी तीन अंगों नौसेना, थल सेना और वायु सेना की मूल आधारभूत जरूरतों की पूर्ति करते हैं। यह इन परियोजनाओं के संचालन या रखरखाव का भी जिम्मा संभालते हैं। यह सिर्फ सशस्त्र सेनाओं के लिए इमारतों का ही निर्माण नहीं करते, बल्कि उनके लिए रन वे भी बनाते हैं।

कश्मीर मसला सुलझाने का वक्त आ गया है : शाह फैसल

epaper

संबंधित खबरें