DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  Budget 2020: बजट के बाद बोले अरविंद केजरीवाल, दिल्ली संग एक बार फिर हुआ सौतेला व्यवहार
देश

Budget 2020: बजट के बाद बोले अरविंद केजरीवाल, दिल्ली संग एक बार फिर हुआ सौतेला व्यवहार

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Madan
Sat, 01 Feb 2020 03:05 PM
Budget 2020: बजट के बाद बोले अरविंद केजरीवाल, दिल्ली संग एक बार फिर हुआ सौतेला व्यवहार

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के शनिवार को संसद में बजट पेश करने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बजट पर निशाना साधा है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की बजट से काफी उम्मीदें थीं, लेकिन इसके साथ एक बार फिर सौतेला व्यवहार किया गया है। केजरीवाल ने भाजपा की प्राथमिकताओं में दिल्ली शामिल नहीं, लोग उसे वोट क्यों दें।

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बजट पेश किया। बजट भाषण में उन्होंने कहा कि देश के शीर्ष 100 शैक्षणिक संस्थान उन छात्रों के लिए डिग्री स्तर का एक ऑनलाइन शिक्षण कार्यक्रम आरंभ करेंगे जो समाज के वंचित तबके से संबंध रखते हैं और जिनकी उच्च शिक्षा तक पहुंच नहीं है।

     
सीतारमण ने संसद में वित्त वर्ष 2020-2021 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि जल्द ही नई शिक्षा नीति की घोषणा की जाएगी और सरकार अगले वित्त वर्ष में शिक्षा क्षेत्र के लिए 99,300 करोड़ रुपये और कौशल विकास के लिए 3,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव रखती है। वित्त मंत्री ने घोषणा की कि शिक्षकों, नर्सों, पराचिकित्सा कर्मी और सेवा प्रदाताओं के कौशल में सुधार और अनुरूपता लाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, पेशेवर निकायों के साथ मिलकर विशेष प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू करेंगे।

एकल खिड़की वाले ई-लॉजिस्टिक्स बाजार का गठन करने, रोजगार सृजन को बढ़ावा देने तथा एमएसएमई को प्रतिस्पर्धी बनाने के लिये जल्दी ही एक राष्ट्रीय लॉजिस्टिक्स नीति लायी जाएगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में 2020-21 का आम बजट पेश करते हुए कहा, ''राष्ट्रीय लॉजिस्टिक्स नीति जल्दी ही जारी की जाएगी।' उन्होंने कहा कि प्रस्तावित नीति में केंद्र सरकार, राज्य सरकारों तथा प्रमुख नियामकों की भूमिकाएं स्पष्ट की जाएंगी। वहीं, आम बजट 2020-21 पेश करते हुए फर्नीचर और फुटवियर के आयात पर शुल्क बढ़ाने का सरकार ने प्रस्ताव किया। 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें