DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

येदियुरप्पा बोले- आधी रात के बाद तक विश्वास मत का इंतजार करेंगे, खाने का प्रबंध करा दीजिए

karnataka trust vote

कर्नाटक विधान सौध में चल रहे सियासी नाटक के बीच 76 वर्षीय भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि वह शक्ति परीक्षण के लिए आधी रात के बाद तक भी इंतजार करने के लिए तैयार हैं लेकिन खाने का इंतजाम करा दीजिए। इसी बीच मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और स्पीकर केआर रमेश कुमार एक बार भी सदन को भरोसा दिया कि आज शक्ति परीक्षण आज ही होगा।


विश्वासमत के लिए कर्नाटक विधान सौध में चल रही बहस के बीच सदन के सदस्य बार -बार वेल में आकर नारेबाजी कर रहे थे तभी पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता येदियुरप्पा ने खड़े होकर कहा कि विश्वासमत के लिए आधी रात के बाद भी इंतजार करेंगे लेकिन खाने का प्रबंध करा दिया जाए। स्पीकर ने कांग्रेस और जेडीएस सदस्यों को शांत कराते हुए बोले कि बीएस येदियुरप्पा को अपनी बात रखनी दी जाए जाकर वह बोल पाए। येदियुरप्पा ने सदन को यह भी ध्यान दिलाया कि स्पीकर और मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सोमवार को ही ट्रस्ट वोट कराने का वादा किया था।


इसके बाद चर्चा में भाग ले रहे सदस्यों को मसाला डोसा और दही चावल दिया गया। बहस में गर्मागर्मी होने से कुछ सदस्य तो सोने लिए निकल चुके हैं।  

विश्वास मत के लिए बहस जारी-

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी द्वारा पेश विश्वास प्रस्ताव पर विधानसभा में तीसरे दिन सोमवार को भी चर्चा जारी है । उधर कांग्रेस का कहना है कि बागी विधायकों के इस्तीफे पर अध्यक्ष का फैसला आने तक विश्वास प्रस्ताव पर मतविभाजन न कराया जाए। विधानसभा की कार्यवाही शुरु होने के समय से ही अध्यक्ष के. आर. रमेश ने सरकार को बार बार शक्ति परीक्षण की प्रक्रिया सोमवार को पूरी करने के अपने वादे का सम्मान करने की याद दिलायी। एक घंटे की देरी से सदन की कार्यवाही शुरू होने पर अध्यक्ष ने कहा, '' सबकी नजर हम पर है। मुझे बलि का बकरा ना बनाएं। अपने लक्ष्य (शक्ति परीक्षण की प्रक्रिया पूरी करने) तक पहुंचें।

कुमारस्वामी ने पिछले सप्ताह बृहस्पतिवार को विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव रखा था लेकिन अभी तक बहस पूरी नहीं हो पाने कारण विश्वास मत नहीं हो पा रहा। सत्तारूढ़ कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन के 16 विधायकों के इस्तीफे और दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन वापस लेने के कारण सरकार का भविष्य अधर में है। राज्यपाल वजुभाई वाला ने पहले शुक्रवार दोपहर डेढ़ बजे तक और बाद में दिन की समाप्ति तक विश्वास प्रस्ताव पर प्रक्रिया पूरी करने को कहा था। शुक्रवार को प्रक्रिया पूरी नहीं होने के बाद अध्यक्ष ने सरकार से यह वादा लिया था कि वह इसे सोमवार को अवश्य पूरा करेगी। 

5 जुलाई को कांग्रेस और जेडीएस के 13 विधायकों ने अचानक इस्तीफा दे दिया था। तब से अभी तक कुमारस्वामी सरकार संकट से घिरी हुई है। मंगलवार यानी 23 जुलाई को कर्नाटक के सियासी नाटक के 18 दिन होने जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BS Yeddyurappa says that they are ready to wait Karnataka trust vote after mid night