DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  हिन्दुस्तान शिखर समागम: जीशान अयूब बोले, शरजील इमाम पर देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है

देशहिन्दुस्तान शिखर समागम: जीशान अयूब बोले, शरजील इमाम पर देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Arun
Sat, 22 Feb 2020 04:50 PM
हिन्दुस्तान शिखर समागम: जीशान अयूब बोले, शरजील इमाम पर देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है

बॉलीवुड अभिनेता जीशान अयूब ने हिन्दुस्तान शिखर समागम में कहा कि विचाराधारा की बात पांच-दस साल की नहीं है। यह बहुत पहले से चला आ रहा है। हमारी सत्ताधारी सरकार राइट विंग वाली है और खुद सरकार भी मानती है कि हमारी विचारधारा यही है। उन्होंने कहा है कि सीएए दक्षिणपंथी विचारधारा से आया और उसी विचारधारा से आया है। उन्होंने कहा कि शरजील इमान ने किया उसके लिए गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन देशद्रोह का केस मुझे ज्यादा लगता है।

बॉलीवुड अभिनेता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकारों से शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बात की है। वहां बैठे लोग अपनी बात का खुद जवाब देंगे। उन्होंने शाहीन बाग में बिरयानी पहुंचाने वाले सवाल पर कहा कि लोग एक दूसरे की मदद कर रहे हैं और इससे ही प्रोटेस्ट को खड़ा हो रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन वाली जगह में हिंसा की जो भी घटनाएं हुई है वो दूसरी विचारधारा के लोगों ने की है। 

शाहीन बाग का रास्ता पुलिसवालों ने बंद किया
जीशान ने कहा कि विरोध करने का हक सबको है। शाहीन बाग के प्रदर्शन पर जीशन ने कहा कि यह रास्ता पुलिसवालों ने बंद किया है और वह प्रदर्शकारियों ने नहीं किया है। एंबुलेंस और बच्चों को गुजरने के लिए जगह दी जा रही थी। जब उनसे पूछा गया कि अगर रास्ता खोल दिया गया तो वहां कोई भी घुस सकता है तो उन्होंने कहा कि वहां घुसने वाले वहां घुस ही जाएगा। 

मैं शाहीन बाग का प्रतिनिधि नहीं हूं 
जीशान ने कहा कि क्या सिक्योरिटी दी जा रही है जामिया में गोली चली और जेएनयू में भी छात्रों को पीट कर चले गए। 90 प्रतिशत लोगों को न्यूज के जरिए पता चला है कि सड़क बंद पड़ी हुई है, जिसके चलते तीन राज्यों के लोगों को दिक्कत हुई जबकि ऐसा नहीं था। जीशन ने कहा कि शाहीन बाग का मैं प्रतिनिधि नहीं हूं और वो लोग अपनी मर्जी से वहां बैठे हैं और वहां चेहरे की जरूरत क्यों हैं।

शरजीत इमाम के बयान पर क्या बोले जीशान
शरजील इमाम के सवाल पर जीशान ने कहा कि उसे गिरफ्तार किया जा चुका है। मैं उससे सहमत नहीं हूं और ऐसे बयान देने वाले लोगों पर देशद्रोह का केस चलना चाहिए। 
 

संबंधित खबरें