DA Image
19 जनवरी, 2020|4:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राम माधव बोले, नजरबंद कश्मीरी नेताओं की रिहाई चाहती है भाजपा

Ram Madhav (ANI Pic)

भाजपा महासचिव राम माधव ने रविवार को कहा कि पार्टी चाहती है कि जम्मू-कश्मीर में हिरासत में लिए गए नेता बाहर आएं और अपनी राजनीतिक गतिविधियां बहाल करें। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को यकीन है कि जम्मू-कश्मीर अपना विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद विकास और भारत के साथ पूर्ण विलय की राह पर आगे बढ़ेगा।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला तथा पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती समेत कई विपक्षी नेता पांच अगस्त से हिरासत में हैं। उसी दिन जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाला अनुच्छेद-370 निष्प्रभावी हुआ था।

माधव ने ‘सैन्य साहित्य उत्सव’ के समापन समारोह में कहा, ‘हम जम्मू-कश्मीर में हिरासत में लिए गए नेताओं को शीघ्र ही बाहर आने देना चाहते हैं। जब अनुच्छेद-370 निरस्त किया गया, तब करीब 2500 लोगों को एहतियातन हिरासत में लिया गया था। आज ऐसे लोगों की संख्या घटकर 100 के करीब हो गई है।’

भाजपा महासचिव ने कहा, ‘हम जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक गतिविधियां बहाल होते हुए देखना चाहते हैं। बाकी 100 लोग भी जल्द ही बाहर होंगे और अपनी राजनीतिक गतिविधियां बहाल कर सकेंगे।’ एक सवाल के जवाब में माधव ने कहा, ‘हम कश्मीरियत की कई परिभाषाएं सुन रहे हैं। असली परिभाषा तब होगी, जब हम कश्मीरी पंडितों को घाटी में अपने घरों में लौटते हुए देखेंगे।’  

घाटी में सीमित स्तर पर इंटरनेट सेवा बहाल होंगी
घाटी में अगले कुछ दिनों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं सीमित स्तर पर बहाल की जाएंगी। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने रविवार को कठुआ में एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, बड़े पैमाने पर पाबंदियों में ढील दी गई है। कश्मीर घाटी में फोन काम कर रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BJP Want that detained Jammu Kashmir leaders come out Says Ram Madhav