DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिड-डे मील में अंडे पर बीजेपी का छत्तीसगढ़ सरकार पर हमला, कहा- जबरन बच्चों को बनाया जा रहा मांसाहारी

the chhattisgarh government had re-introduced eggs in its mid-day meal scheme in january to fight ch

स्कूली छात्रों में कुपोषण की लड़ाई के खिलाफ छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार की तरफ से मिड डे मील में अंडे दिए जाने की योजना दोबारा शुरू करने के करीब छह महीने बाद उस वक्त विवाद पैदा हो गया जब एक समाजसेवी संगठन और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने इसका विरोध किया। उन्होंने विरोध करते हुए यह दावा किया कि इस कदम से शाकाहारी बच्चों को जबरन अंडे खाने पड़ेंगे।

पिछली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने 2015 में मिड डे मील के मैन्यू से यह कहते हुए अंडे को हटा दिया था कि इससे लोगों की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचती है। इस साल जनवरी में भूपेश बघेल की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने स्वास्थ्य बेहतर बनाने के लिए मिड डे मील में स्कूल छात्रों के लिए अंडे और शाकाहारी छात्रों के लिए केले देने का प्रावधान किया था।

कुपोषण के दो इंडिकेटर्स में यह जाहिर हुआ है कि छत्तीसगढ़ में 14 साल तक के करीब 30 फीसदी बच्चे या तो कमजोर है या फिर वजन कम है। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारिक सूत्र ने बताया कि जनजातीय बच्चों में कुपोषण की दर 44 फीसदी के आसपास है।

ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए उज्ज्वला योजना, स्कूलों में लकड़ी पर बन रहा मिड डे मील

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BJP targets Chhattisgarh govt over eggs in mid-day meals says Kids being forced to become non-vegetarians