ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशभाजपा ने 5 राज्यों के चुनाव में खर्च किए थे 340 करोड़ रुपये, अकेले यूपी में लगाए 221 करोड़

भाजपा ने 5 राज्यों के चुनाव में खर्च किए थे 340 करोड़ रुपये, अकेले यूपी में लगाए 221 करोड़

भाजपा ने इसी साल फरवरी-मार्च में हुए यूपी समेत देश के 5 राज्यों के चुनाव में 340 करोड़ रुपये की बड़ी रकम खर्च की थी। आयोग की ओर से पार्टी को दिए गए खर्च के ब्योरे में यह जानकारी दी गई है।

भाजपा ने 5 राज्यों के चुनाव में खर्च किए थे 340 करोड़ रुपये, अकेले यूपी में लगाए 221 करोड़
Surya Prakashभाषा,नई दिल्लीFri, 23 Sep 2022 11:22 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भाजपा ने इसी साल फरवरी-मार्च में हुए देश के 5 राज्यों के चुनाव में 340 करोड़ रुपये की बड़ी रकम खर्च की थी। आयोग की ओर से पार्टी को दिए गए खर्च के ब्योरे में यह जानकारी दी गई है। इसके अलावा दूसरे राष्ट्रीय दल कांग्रेस ने इन चुनावों में 194 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम खर्च की थी। चुनाव आयोग को दोनों दलों की ओर से 5 राज्यों के चुनाव में खर्च की गई रकम की डिटेल दी गई थी, जिसे अब आयोग ने सार्वजनिक किया है। भाजपा की ओर से दिए गए ब्योरे के मुताबिक उसने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा और पंजाब विधानसभा चुनावों में प्रचार अभियान पर 340 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए।

इसके मुताबिक भाजपा ने उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 221 करोड़ रुपये खर्च किए। इसके अलावा मणिपुर में 23 करोड़, उत्तराखंड में 43.67 करोड़, पंजाब में 36 करोड़ से अधिक और गोवा में 19 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए थे। कांग्रेस द्वारा दिए गए ब्योरे के मुताबिक उसने इन पांच राज्यों में प्रचार अभियान पर 194 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए। भाजपा और कांग्रेस को राष्ट्रीय दल के रूप में मान्यता प्राप्त है। लोकसभा और राज्य विधानसभाओं का चुनाव लड़ने वाले दलों के लिए एक निर्धारित समयसीमा के भीतर निर्वाचन आयोग को प्रचार अभियान में हुए खर्च का ब्योरा देना अनिवार्य है।

बता दें कि यूपी, पंजाब और उत्तराखंड समेत 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे इसी 10 मार्च को आए थे। इसमें भाजपा को बड़ी सफलता मिली थी। एक तरफ भाजपा ने यूपी, उत्तराखंड, गोवा में वापसी की तो वहीं मणिपुर में भी सत्ता हासिल कर ली। पंजाब में आम आदमी पार्टी ने पहली बार सरकार बनाई है। ब्योरे के मुताबिक 5 राज्यों में सबसे अधिक रकम भाजपा की ओर से ही खर्च की गई, जबकि कांग्रेस पार्टी दूसरे नंबर पर रही है। कांग्रेस को किसी भी राज्य में जीत नहीं मिल सकी थी और पंजाब में तो वह सत्ता गंवा बैठी और महज 18 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था।

epaper