bjp mp nishikant dubey demands this for social media - निशिकांत दुबे ने सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की DA Image
11 दिसंबर, 2019|12:16|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निशिकांत दुबे ने सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की

लोकसभा में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने सोमवार को उनके द्वारा जीडीपी के बारे में दिये गए वक्तव्य को लेकर सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल किए जाने का मुद्दा उठाया और सोशल मीडिया पर ऐसी गतिविधियों पर रोक लगाने के लिये कानून बनाने की मांग की। शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए दूबे ने कहा, 'सोमवार को मैंने एक विशेषज्ञ को उद्धृत करते हुए जीडीपी के संबंध में कुछ बातें कही थी। जिसको जीडीपी मानना है, जीडीपी माने, जिसको हैप्पीनेस इंडेक्स मानना है, वह हैप्पीनेस इंडेक्स माने। जिसको गांव, गरीब को मानना है, वह गांव गरीब को माने और जिसको अमेरिका को मानना है, वह अमेरिका को माने।'

भाषा के अनुसार, उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी बातें तर्क के साथ रखी थी, लेकिन मीडिया, खासकर सोशल मीडिया पर उनकी बात के संदर्भ में उनके परिवार के प्रति अभद्र शब्दों का प्रयोग किया गया। दुबे ने कहा कि उनका सरकार से आग्रह है कि सदन में बोलने के संदर्भ में इस प्रकार की जो घटनाएं होती है, ऐसे में सोशल मीडिया पर ऐसी गतिविधि पर रोक लगाने के लिये कानून बने। 
  
बालिया से भाजपा सांसद वीरेन्द्र सिंह ने दूबे का समर्थन करते हुए कहा कि वह गांव से हैं, किसान है। जीडीपी को नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा कि जीडीपी हमारे गांव, किसान का पैमाना तय नहीं कर सकती। 

भाजपा की जसकौर मीणा ने पिछड़े वर्गो के संबंध में क्रीमी लेयर का मुद्दा उठाया और उनके हितों की सुरक्षा करने की मांग की। भाजपा के अजय निषाद ने नीलगाय, जंगली सुअर एवं अन्य जानवरों द्वारा फसलों को नुकसान किये जाने का मुद्दा उठाया और सरकार से किसानों के हित में फसलों को सुरक्षित बनाने के लिए कदम उठाने की मांग की। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bjp mp nishikant dubey demands this for social media