ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशशपथ के साथ भाजपा सांसद का जय मोदी, ऐतराज जताने पर हेडगेवार की भी जय बोले

शपथ के साथ भाजपा सांसद का जय मोदी, ऐतराज जताने पर हेडगेवार की भी जय बोले

अतुल गर्ग ने शपथ में कहा, 'श्यामा प्रसाद मुखर्जी जिंदाबाद, दीनदयाल उपाध्याय जिंदाबाद, अटल बिहारी वाजपेयी जिंदाबाद, नरेंद्र मोदी जिंदाबादा।' इसके बाद हेडगेवार जिंदाबाद का भी नारा लगाया।

शपथ के साथ भाजपा सांसद का जय मोदी, ऐतराज जताने पर हेडगेवार की भी जय बोले
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 25 Jun 2024 05:52 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा में आज भी नवनिर्वाचित सांसदों का शपथ ग्रहण समारोह जारी रहा। इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव जैसे प्रमुख नेताओं ने शपथ ली। वहीं कई सांसदों के शपथ लेने का अंदाज चर्चा में रहा। इसकी वजह शपथ के साथ उनका अपने नेताओं या फिर अपनी आस्था या एजेंडे के बारे में बोलना था। असदुद्दीन ओवैसी ने तो शपथ के बाद जय भीम, जय मीम, जय तेलंगाना और जय फिलिस्तीन का नारा लगाया। इसके बाद बारी थी उत्तर प्रदेश के सांसदों की। इस दौरान गाजियाबाद लोकसभा सीट से चुने गए भाजपा के सांसद अतुल गर्ग ने जय मोदी का भी नारा लगाया।

उन्होंने शपथ के बाद जनसंघ और भाजपा नेताओं की जय बोली और पीएम नरेंद्र मोदी का भी नाम लिया। अतुल गर्ग ने कहा, 'श्यामा प्रसाद मुखर्जी जिंदाबाद, दीनदयाल उपाध्याय जिंदाबाद, अटल बिहारी वाजपेयी जिंदाबाद, नरेंद्र मोदी जिंदाबादा।' इसके बाद वह जब मंच से जाने लगे तो इस दौरान राहुल गांधी समेत कई विपक्षी सांसदों ने ऐतराज जताया। इस पर अतुल गर्ग आधे रास्ते से लौट आए और फिर डॉ. हेडगेवार जिंदाबाद बोलकर लौटे। दरअसल डॉ. हेडगेवार आरएसएस के संस्थापक थे। उन्होंने ही 1925 में आरएसएस की स्थापना की थी। इस तरह अतुल गर्ग ने ऐतराज के जवाब में और तीखा स्टैंड लेते हुए हेडगेवार जिंदाबाद भी बोल दिया। 

बरेली वाले सांसद बोले- जय हिंदू राष्ट्र, विपक्ष याद दिलाता रहा संविधान

भाजपा के ही बरेली से सांसद चुने गए छतरपाल सिंह गंगवार ने तो अपनी शपथ में जय हिंदू राष्ट्र, जय भारत का नारा लगाया। उनकी शपथ की भी खूब चर्चा हो रही है और वह सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो रहे हैं। गंगवार के जय हिंदू राष्ट्र कहने पर कई विपक्षी सांसदों ने आपत्ति भी जताई और कहा कि ऐसा कहना तो संविधान विरोधी है। बता दें कि लोकसभा में शपथ के दौरान राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने तो संविधान की कॉपी हाथ में लेकर ही शपथ ली। गौरतलब है कि दोनों नेताओं ने आम चुनाव के दौरान भाजपा पर संविधान बदलने की कोशिश के आरोप लगाए थे। अब चुनाव के बाद भी वह अपने उसी एजेंडे पर भाजपा को घेरने की कोशिश करते दिखे।