DA Image
22 अक्तूबर, 2020|3:46|IST

अगली स्टोरी

बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल ने कहा: गहलोत सरकार गिराने के प्रयास दुर्भाग्यपूर्ण

bjp leader kailash meghwal  file pic

राजस्थान बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने राजस्थान में कांग्रेस सरकार को गिराने के कथित प्रयासों पर नाराजगी जताते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा है कि सत्ताधारी पार्टी के विधायकों द्वारा विपक्षी पार्टी के साथ मिलकर निर्वाचित सरकार को गिराने के जैसे षडयंत्र आज हो रहे हैं वैसे कभी नहीं हुए।

मेघवाल ने पीटीआई से कहा, ''राजस्थान की राजनीति पटरी से उतर गई है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब राज्य कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से जूझ रहा है और गरीबों में बेरोजगारी मुंह बाये खड़ी है... राज्य सरकार को अस्थिर करने के प्रयास हो रहे हैं।''

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के करीबी माने जाने वाले शाहपुरा सीट के विधायक मेघवाल ने कहा कि राज्य सरकार को अस्थिर करने के लिए लोगों द्वारा 'अनैतिक' हथकंडे, गंदी राजनीतिक एवं विधायकों की खरीद फरोख्त का रास्ता अपनाया जाना निंदनीय है।' मेघवाल ने कहा कि केवल स्थिर सरकार ही कोरोना वायरस महामारी एवं बेरोजगारी जैसी चुनौतियों से निपट सकती है।

उल्लेखनीय है कि सचिन पायलट सहित कुछ विधायकों द्वारा बागी रुख अपनाने के बीच कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा राज्य की अशोक गहलोत सरकार को गिराने की साजिश कर रही है। इस बारे में एक मामला भी राज्य पुलिस की विशेष इकाई एसओजी व भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो एसीबी में दर्ज करवाया गया है।

ये भी पढ़ें: बगावत करने वाले जनप्रतिनिधियों के अगला चुनाव लड़ने पर लगे रोक-सिब्बल

मेघवाल ने हालांकि यह भी कहा कि राज्य का मौजूदा राजनीतिक संकट कांग्रेस की आंतरिक कलह का परिणाम है जिससे भाजपा का कुछ लेना देना नहीं। उन्होंने कहा कि भाजपा मूल्यों की राजनीति में विश्वास रखती है और उनकी पार्टी के खिलाफ कांग्रेस के आरोप असत्य है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपनी विफलता को छुपाने के लिए भाजपा पर आरोप लगा रही है।

उन्होंने दावा किया,''भाजपा कभी खरीद फरोख्त में शामिल नहीं हो सकती। मेघवाल ने कांग्रेस से बगावत करने वाले सचिन पायलट के इस बयान की आलोचना की कि मुख्यमंत्री गहलोत एवं पूर्व मुख्यमंत्री वंसुधरा राजे के बीच 'सहमति' है। मेघवाल ने कहा कि यह आरोप पायलट की राजनीतिक सोच को दर्शाता है। जब उनसे पूछा गया कि क्या भाजपा को सचिन से हाथ मिलाना चाहिए तो उन्होंने कहा कि भाजपा को अपने भावी कदमों का फैसला नैतिकता के आधार पर करना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि मेघवाल ने रात इस बारे में एक बयान भी जारी किया। इसमें उन्होंने कहा,''राजस्थान में सरकार को गिराने के लिए जिस तरह का माहौल पिछले दो महीने से बना है, हार्स ट्रेडिंग हो रही है आरोप प्रत्यारोप लग रहे हैं वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सरकारें बदलती रही हैं लेकिन 'सत्ताधारी पार्टी द्वारा विपक्षी पार्टियों से मिलकर सरकार गिराने के षडयंत्र जो आज हो रहे हैं, ऐसा कभी नहीं देखा गया।'

ये भी पढ़ें: राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच राज्यपाल से मिले CM अशोक गहलोत

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BJP leader Kailash Meghwal says Unfortunate attempts to topple Gehlot government