ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशखास सूत्र के जरिए नीतीश से हो रही BJP आलाकमान की बात, बिहार पर जल्द हो सकता है ऐलान

खास सूत्र के जरिए नीतीश से हो रही BJP आलाकमान की बात, बिहार पर जल्द हो सकता है ऐलान

Nitish Kumar likely to join NDA: भावी गठबंधन को लेकर कई चीजे तय की जा रही हैं। इसमें नई सरकार का गठन, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, मंत्रिमंडल और लोकसभा चुनाव में सीटों का बंटवारा भी शामिल है।

खास सूत्र के जरिए नीतीश से हो रही BJP आलाकमान की बात, बिहार पर जल्द हो सकता है ऐलान
Himanshu Jhaहिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Sat, 27 Jan 2024 06:41 AM
ऐप पर पढ़ें

Nitish kumar: भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने लगातार दूसरे दिन बिहार में जदयू के साथ भावी रिश्तों और नई सरकार की संभावनाओं को लेकर विचार-विमर्श किया। सब कुछ ठीक रहा तो अगले कुछ दिन में भाजपा और जदयू गठबंधन एक बार फिर आकार ले सकता है और नई सरकार का गठन भी हो सकता है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने राज्य के नेताओं को इस मामले पर किसी तरह की बयानबाजी न करने और इंतजार करने को कहा है।

बिहार के सियासी घटनाक्रम के बीच भाजपा नेतृत्व ने गुरुवार रात प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सम्राट चौधरी और अन्य प्रमुख नेताओं के साथ लंबा विचार-विमर्श किया था। केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश के प्रमुख नेताओं को साफ किया था कि जदयू के साथ फिर गठबंधन होने की संभावनाएं और नई परिस्थितियों को लेकर पार्टी कुछ नए निर्णय भी ले सकती है।

खास सूत्र के जरिए संवाद
सूत्रों के अनुसार भाजपा नेतृत्व खास संवाद सूत्र के जरिए नीतीश के संपर्क में है और भावी गठबंधन को लेकर कई चीजे तय की जा रही हैं। इसमें नई सरकार का गठन, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, मंत्रिमंडल और लोकसभा चुनाव में सीटों का बंटवारा भी शामिल है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो नीतीश कुमार के नेतृत्व में पिछले फॉर्मूले पर ही नई सरकार का गठन भी हो सकता है, लेकिन भाजपा पूरी तरह सतर्कता बरत रही है।

प्रदेश कार्य समिति की बैठक में मौजूद रह सकते नड्डा
पार्टी की प्रदेश कार्य समिति की बैठक भी शनिवार और रविवार को पटना में हो रही है। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के भी हिस्सा लेने की संभावना है। ऐसे में पार्टी अपना भावी फैसला इस बैठक के बाद ही जाहिर करेगी। तब तक बहुत सारी चीज तय हो जाएगी और विपक्षी गठबंधन को लेकर नीतीश का फैसला भी सामने आ जाएगा। पार्टी इस पूरे मामले पर नीतीश की पहल का इंतजार कर रही है कि वह पहले विपक्षी गठबंधन से बाहर आएं, उसके बाद ही भाजपा अपना नया कदम आगे बढ़ाएगी।

सहयोगी दलों को आश्वस्त किया
भाजपा ने अपने अन्य सहयोगी दलों को स्पष्ट किया है कि जदयू के साथ जाने पर भी उनका सम्मान बरकरार रहेगा। सूत्रों के अनुसार भाजपा नेतृत्व ने अपने मौजूदा सहयोगी दलों के नेताओं चिराग पासवान, जीतन राम मांझी, पशुपतिनाथ पारस, उपेंद्र कुशवाहा को आश्वस्त किया है कि लोकसभा सीटों के तालमेल में उनको भी उचित हिस्सेदारी दी जाएगी। भाजपा का मानना है कि नीतीश के साथ आने से भाजपा को न केवल बिहार में बल्कि अन्य राज्यों में भी भारी फायदा होगा।

बिहार के कांग्रेस विधायकों पर नजर
भाजपा की नजर बिहार के कांग्रेस विधायकों पर भी है। उनका भी एक बड़ा समूह नया गुट बनाकर भाजपा के समर्थन में आ सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें