ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशभाजपा तो 40 सीट नहीं ला पाती, यह रिजल्ट भी EVM का खेल है; अदालत जाएगी उद्धव सेना

भाजपा तो 40 सीट नहीं ला पाती, यह रिजल्ट भी EVM का खेल है; अदालत जाएगी उद्धव सेना

उद्धव ठाकरे सेना का कहना है कि वह उत्तर पश्चिम मुंबई लोकसभा सीट के मामले में अदालत जाएंगे। उन्होंने कहा कि 48 वोटों से जीत की बात हजम नहीं होती और EVM से गड़बड़ी की गई है। वरना नतीजा अलग होता।

भाजपा तो 40 सीट नहीं ला पाती, यह रिजल्ट भी EVM का खेल है; अदालत जाएगी उद्धव सेना
aditya thackeray news
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 17 Jun 2024 04:11 PM
ऐप पर पढ़ें

उद्धव सेना के नेता आदित्य ठाकरे ने कहा है कि यदि ईवीएम से चुनाव नहीं होता तो भाजपा 40 सीटें भी नहीं जीत पाती। उन्होंने कहा कि हम मुंबई उत्तर पश्चिम सीट पर जीत रहे थे, लेकिन बेईमानी कर ली गई। उन्होंने कहा कि हम इस चुनावी नतीजे को अदालत में चुनौती देंगे। इसके साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह इलेक्शन कमिशन नहीं है बल्कि 'इजिली कम्प्रोमाइज्ड' है। उन्होंने कहा कि ईवीएम नहीं होती तो भाजपा वाले 40 सीटें भी नहीं जीत पाते। इससे पहले भी उद्धव सेना ने शनिवार को चुनाव आयोग पर हमला बोला था और कहा था कि उसका रवैया चिंताजनक है।

मुंबई उत्तर पश्चिम सीट पर एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना को महज 48 वोटों से जीत मिली थी। उसके कैंडिडेट रविंद्र वायकर की जीत पर सवाल उठ रहे हैं। हाल ही में एक वीडियो सामने आया था, जिसके मुताबिक वायकर के एक रिश्तेदार काउंटिंग वाले दिन मतगणना स्थल के अंदर ही मोबाइल चला रहे थे। आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने मोबाइल से ईवीएम को हैक कर लिया था। इन आरोपों को लेकर ही उद्धव सेना हमलावर है। इस मामले में उद्धव सेना के कैंडिडेट रहे अमोल कीर्तिकर ने पुलिस में शिकायत भी दी है। उन्होंने कहा कि जब काउंटिंग स्थल पर मोबाइल चलाना मना है तो वहां ऐसा क्यों हुआ।

अब विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा में तैयारी, कई राज्यों में बनाए प्रभारी

अब उनके नेता आदित्य ठाकरे ने एक कदम और आगे बढ़ते हुए अदालत जाने की बात कही है। अब तक मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने रविंद्र वायकर के रिश्तेदार मंगेश वसंत पांडिलकर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। उनके खिलाफ काउंटिंग सेंटर के अंदर मोबाइल चलाने के आरोप में केस दर्ज हुआ है। पुलिस ने इस मामले में दिनेश गौरव नाम के शख्स पर भी केस दर्ज किया है। दिनेश पर आरोप है कि उसने ही पांडिलकर को मोबाइल दिया था। दिनेश गौरव इलेक्शन के पोल पोर्टल के लिए ऑपरेटर का काम करता है।

वहीं अमोल कीर्तिकर ने आरोप लगाया था कि उन्होंने काउंटिंग वाले दिन वोटों की दोबारा गिनती कराने की मांग की थी, लेकिन उनकी इस मांग को अनसुना कर दिया गया। कीर्तिकर ने यह भी कहा था कि हर राउंड की गिनती के बाद संख्या बताई जा रही थी, लेकिन 19वें राउंड के बाद ऐसा नहीं हुआ। इसकी बजाय सीधे 26वें राउंड के बाद रिजल्ट घोषित हुआ, जिसमें वायकर की जीत का ऐलान कर दिया गया।