ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशबिप्लब देब अकेले नहीं हैं यहां भी चुनाव से पहले सीएम बदल चुकी है बीजेपी, जानें इनसाइड स्टोरी

बिप्लब देब अकेले नहीं हैं यहां भी चुनाव से पहले सीएम बदल चुकी है बीजेपी, जानें इनसाइड स्टोरी

वैसे बिप्लब देब बीजेपी के अकेले मुख्यमंत्री नहीं हैं जिन्होंने चुनाव से एक साल पहले इस्तीफा दिया है। 2021 में भाजपा शासित उत्तराखंड, गुजरात और कर्नाटक में भी नेतृत्व परिवर्तन देखा गया।

बिप्लब देब अकेले नहीं हैं यहां भी चुनाव से पहले सीएम बदल चुकी है बीजेपी, जानें इनसाइड स्टोरी
Gaurav Kalaहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीSat, 14 May 2022 05:33 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने राज्य में चुनाव से ठीक एक साल पहले अपने पद से यह कहकर इस्तीफा दे दिया कि पार्टी से बढ़कर कोई चीज नहीं, आलाकमान का फैसला उनके लिए सर्वोपरी है। जानकारी के मुताबिक, आज शाम को बीजेपी विधायक दल की बैठक में अपने सीएम का चेहरा साफ हो जाएगा। यह पहली बार नहीं है जब बीजेपी हाईकमान ने चुनाव से पहले अपने सीएम चेहरों को बदला हो। कारण जो भी हो लेकिन उत्तराखंड, गुजरात और कर्नाटक के बाद अब त्रिपुरा में बीजेपी का यह कदम दर्शाता है कि कहीं न कहीं चुनाव में हार के डर से बीजेपी को यह कदम उठाना पड़ा। 

बीजेपी ने 2018 में त्रिपुरा चुनाव जीतने के बाद वाम मोर्चा सरकार के 25 साल के शासन को समाप्त करने के बाद बिप्लब कुमार देब के नेतृत्व में राज्य की सत्ता पाई। खबर है कि सत्तारूढ़ बीजेपी को साल 2023 विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस से कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि 2021 के बंगाल चुनावों में टीएमसी ने बीजेपी को हराया था। टीएमसी ने देब के इस्तीफे पर कहा कि वो प्रदेश में काम नहीं कर रहे थे इसलिए हाईकमान के कहने पर उनको इस्तीफा देना पड़ा।

वैसे बिप्लब देब बीजेपी के अकेले मुख्यमंत्री नहीं हैं जिन्होंने चुनाव से एक साल पहले इस्तीफा दिया है। 2021 में भाजपा शासित उत्तराखंड, गुजरात और कर्नाटक में भी नेतृत्व परिवर्तन देखा गया।

संबंधित खबरें

कर्नाटक
भारतीय जनता पार्टी ने अनुभवी बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व में 2019 में दक्षिणी राज्य में सरकार बनाई। कांग्रेस और जेडीएस विधायकों के इस्तीफे के बाद एचडी कुमारस्वामी सरकार गिरने के बाद भगवा पार्टी सरकार बनाने में सफल रही थी। राज्य का नेतृत्व करने के दो साल बाद येदियुरप्पा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और बसवराज बोम्मई ने उनकी जगह ली। कर्नाटक में भी अगले साल चुनाव होने हैं।

गुजरात
पिछले साल गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने यह कहते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था कि वह पार्टी द्वारा उन्हें सौंपी गई नई जिम्मेदारियों को लेने के लिए तैयार हैं। उनकी जगह भूपेंद्र पटेल ने ली थी। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का गृह राज्य 1995 से बीजेपी का गढ़ रहा है, और इस साल के अंत में यहां विधानसभा चुनाव होने हैं।

उत्तराखंड
फरवरी में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने उत्तराखंड में सत्ता विरोधी लहर को सफलतापूर्वक नाकाम किया। लेकिन चुनाव से एक साल पहले भगवा पार्टी ने तीन बार मुख्यमंत्री बदले। मुख्यमंत्री के रूप में चार साल तक सेवा देने के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिछले साल मार्च में इस्तीफा दे दिया था। तीरथ सिंह रावत ने उनकी जगह ली। लेकिन महज चार महीनों बाद ही पुष्कर सिंह धामी को सीएम की कुर्सी मिल गई।

epaper