DA Image
26 अक्तूबर, 2020|7:26|IST

अगली स्टोरी

क्या बिहार चुनाव में अकेले उतरेगी चिराग पासवान की पार्टी? जानें क्या बोले LJP के नेता

chirag paswan

बिहार विधानसभा चुनाव में पहले दौर के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू होने के साथ राजनीतिक दलों पर गठबंधन को अंतिम रूप देने का दबाव बढ़ गया है। सीट बंटवारे को लेकर नाराज चल रही लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा से मुलाकात की है। मुलाकात के दौरान लोजपा ने मजबूत सीटों को लेकर दावेदारी की है।

लोजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि भाजपा के साथ बातचीत चल रही है। हमे उम्मीद है कि भाजपा हमारी चिंताओं को समझेगी। एक-दो दिन में स्थिति साफ होने की उम्मीद है। यदि भाजपा के साथ बात नहीं बनती है, तब पार्टी अकेले चुनाव मैदान में उतरने के लिए भी तैयार है। पार्टी ने विधानसभा चुनाव के लिए 143 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर लिए हैं।

पार्टी के एक नेता ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष से मुलाकात के दौरान चिराग पासवान ने सीट की संख्या के साथ सीट के नाम और चुनाव के बाद सरकार में हिस्सेदारी पर बातचीत की है। उन्होंने कहा कि अभी तक भाजपा की तरफ से जो सीटें देने की बात हुई हैं, उन पर लोजपा की स्थिति बहुत मजबूत नहीं है। ऐसे में पार्टी उन सीट पर जीत दर्ज नहीं कर पाएगी।

दरअसल, लोजपा और जदयू के रिश्ते बहुत अच्छे नहीं है। पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते रहे हैं। ऐसे में जदयू भी सीधे लोजपा के बात नहीं करना चाहती है। जदयू का कहना है कि उसका गठबंधन भाजपा के साथ है। भाजपा अपने हिस्से की सीटों पर लोजपा से गठबंधन कर सकती है। हालांकि, कुछ मुद्दों को लेकर भाजपा भी लोजपा से खुश नहीं है।

भाजपा के एक नेता ने कहा कि जब केंद्रीय नेतृत्व ने साफ कर दिया है कि बिहार में एनडीए का चेहरा नीतीश कुमार होंगे, तो लोजपा को जदयू के खिलाफ अपना रुख नरम कर लेना चाहिए। इसके साथ लोजपा लगातार जदयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने की बात कर रही है। इस तरह के बयानों से गठबंधन कमजोर होता है और राजनीतिक विरोधियों को फायदा होता है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bihar vidhan sabha chunav 2020: will chirag paswan party alone contest bihar election know what the leader of LJP said