DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार पुलिस के RSS और उसके अनुषांगिक संगठनों की जानकारी जुटाने पर इंद्रेश ने दिया ये बयान

bihar police allegedly spying rss and its associate organisations  file pic

बिहार पुलिस की विशेष शाखा (स्पेशल ब्रांच) के एक आदेश के सार्वजनिक होने के बाद से न केवल बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है, बल्कि इस विषय पर चचार्ओं का बाजार भी गरम है। वहीं इस पर पुलिस अधिकारी मौन हैं।

विशेष शाखा ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और उससे जुड़े संगठनों और उसके अधिकारियों की जानकारी एकत्र करने का फरमान जारी किया है। यह आदेश इस साल 28 मई को विशेष शाखा द्वारा सभी क्षेत्रीय पुलिस उप-अधीक्षक, विशेष शाखा और सभी जिला विशेष शाखा के पदाधिकारियों को जारी किया गया है।

आदेश में इन संगठनों के पदाधिकारियों के नाम और पते की जानकारी एक सप्ताह के अंदर देने को कहा गया है। आदेश पत्र को 'अतिआवश्यक' बताया गया है।

ये भी पढ़ें: BJP की सदस्यता लेने के बाद सपना का केजरीवाल पर हमला, जानें क्या कहा

विशेष शाखा की ओर से जारी आदेश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस), विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, हिंदू जागरण समिति, धर्म जागरण समन्वय समिति, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच, हिंदू राष्ट्र सेना, राष्ट्रीय सेविका समिति, शिक्षा भारती, दुगार् वाहिनी, स्वेदशी जागरण मंच, भारतीय किसान संघ, भारतीय मजदूर संघ, भारतीय रेलवे संघ, अखिल भारतीय विद्याथीर् परिषद, अखिल भारतीय शिक्षक महासंघ, हिंदू महासभा, हिंदू युवा वाहिनी, हिंदू पुत्र संगठन के पदाधिकारियों का नाम और पता मांगा गया है।

इस आदेश की प्रति सार्वजनिक होने पर पुलिस अधिकारी और भाजपा के साथ बिहार में सरकार चला रहे जद (यू) के नेता भी कुछ बोल नहीं पा रहे हैं। बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा से इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “मुझे इसकी जानकारी नहीं है। मैं पार्टी का छोटा कार्यकर्ता हूं। मुझे नहीं मालूम।” इधर, भाजपा के नेता और मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि आरएसएस सामाजिक दायित्वों को निभाने वाला संगठन है। विपक्षी दल इस मामले को लेकर सत्ता पक्ष पर निशाना साध रहे हैं।

आरोपों पर आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने कही ये बात

बिहार पुलिस की  ओर से संघ से जुड़े  संगठनों के बारे  में जानकारी जुटाने संबंधी मामले पर आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने बुधवार को कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ से फिलहाल कोई समस्या नहीं है। आरोप लगाया जा रहा था कि उन्होंने राज्य पुलिस को आरएसएस नेताओं की जानकारी इकट्ठा करने का आदेश दिया है। इंद्रेश ने मीडिया से कहा कि मेरा मानना है कि सभी को आरएसएस नेताओं और कार्यकर्ताओं से जुड़ी ज्यादा से ज्यादा जानकारियां इकट्ठी करनी चाहिए, ताकि सारे भ्रम दूर हो जाएं।

ये भी पढ़ें: पटना में बोले राहुल गांधी- मुझे तंग कर रहे संघ और भाजपा वाले

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar Police accused of gathering information of RSS and its affiliated organizations