DA Image
26 फरवरी, 2020|12:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा पुलिस को मिला गौरव चंदेल का मोबाइल फोन, सात जनवरी को हुई थी हत्या

gaurav chandel  file photo

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में गौरव चंदेल मर्डर केस में शुक्रवार को पुलिस में बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस को मृतक गौरव चंदेल का मोबाइल बरामद कर लिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने राहगीर से मोबाइल फोन बरामद किया है। इससे पहले पुलिस  को गौरव चंदेल की कार मिली थी जिसकी फॉरेंसिक जांच के दौरान कार से तीन लोगों की अंगुलियों के निशान (फिंगर प्रिंट) मिले हैं। फॉरेंसिक टीम की तरफ से पुलिस को रिपोर्ट दी गई है। फिंगर प्रिंट रिपोर्ट आने के बाद पुलिस आशंका जता रही है कि गौरव की कार में तीन से चार लोग थे। हालांकि, बदमाशों की कोई पहचान नहीं हो सकी है। वहीं, नोएडा पुलिस गुरुवार को भी गाजियाबाद के आकाश नगर पहुंची और स्थानीय लोगों से पूछताछ की।  

गाजियाबाद के मसूरी स्थित आकाश नगर से 14 जनवरी की रात को गौरव चंदेल की कार लावारिस अवस्था में मिली थी। बदमाश कार लॉक करके फरार हो गए थे। एक सेवानिवृत्त सिपाही ने गाजियाबाद पुलिस को कार के बारे में सूचना दी थी। फिर नोएडा पुलिस कार को फेज तीन थाने लेकर आ गई थी। पुलिस ने मामले में कुछ सबूत जुटाने के लिए फॉरेंसिक टीम से जांच कराई। टीम ने कार से कई फिंगर प्रिंट लेकर जांच की। जांच के दौरान टीम ने गौरव और उनके परिवार के सदस्यों के फिंगर प्रिंट नहीं लिए। जांच रिपोर्ट में सामने आया है कि गौरव की कार में तीन लोगों के फिंगर प्रिंट मिले। अब रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

आकाश नगर में लोगों से पूछताछ
गौरव चंदेल हत्याकांड की सुराग तलाशने नोएडा पुलिस गुरुवार को भी गाजियाबाद पहुंची। यहां मसूरी थाना पुलिस की मौजूदगी में नोएडा पुलिस की दो टीमों ने वारदात के संबंध में लोगों से पूछताछ की। एक टीम जहां लोगों से गौरव चंदेल की गाड़ी के संबंध में पूछताछ कर रही थी तो दूसरी टीम जहां गाड़ी मिली, उस घर तक पहुंचने के रास्ते का रूटमैप बना रही थी।

गौरतलब है कि हत्यारोपी मंगलवार की रात यहां आकाश नगर में रहने वाले सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी जगबीर सिंह के घर के बाहर कार खड़ी कर फरार हो गए थे। जगबीर सिंह ने ही रात करीब 11 बजे पुलिस को सूचना दी थी। इसके बाद बुधवार की सुबह आकाशनगर पहुंची नोएडा पुलिस ने गाड़ी को कब्जे में लिया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि आकाश नगर वासियों ने दो दिन तक इस कार को एक प्लॉट में खड़ा देखा था। पुलिस इसी सूचना की तस्दीक कर रही थी, लेकिन मौके पर किसी व्यक्ति ने इसकी तस्दीक नहीं की। पुलिस को मौके से मिले सीसीटीवी फुटेज से भी कोई खास सुराग नहीं मिला है। 

बदमाश 30 सेकेंड में कार खड़ी कर भागे 
गौरव चंदेल हत्याकांड को अंजाम देने वाले बदमाश मात्र 30 सेकेंड में कार खड़ी करके फरार हुए थे। यह जानकारी जिस घर के पास मिली, उसमें रहने वाले व्यक्ति ने दी है।  पुलिस को कार के बारे में सूचना देने वाले सेवानिवृत्त सिपाही जगबीर ने बताया कि रात करीब साढ़े दस बजे वह घर पर ही थी। इसी बीच एक कार का दरवाजा बंद होने की आवाज आई। घर का गेट खोलकर बाहर आने तक जगबीर को करीब 30 सेकेंड का समय लगा। इसी बीच आरोपी कार छोड़कर फरार हो गए। जब जगबीर घर से बाहर आए तो उन्हें 

कार के पास कोई नजर नहीं आया
आरोपियों का पता लगाने के लिए पुलिस ने मसूरी में कई जगहों की सीसीटीवी फुटेज खंगाली है ताकि गौरव की कार के साथ आई दूसरी कार का नंबर पता चल सके। अभी तक की फुटेज में पुलिस को न तो दूसरी कार की नंबर प्लेट नजर आई है और न ही गौरव की कार में बैठे बदमाश दिखे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Big update in Gaurav Chandel murder case: Police found the mobile phone of the deceased