DA Image
26 फरवरी, 2020|12:22|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

CAA-NRC के खिलाफ जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शन, जेल से छूटे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद भी हुए शामिल

bhim army chief chandrashekhar azad

1 / 2Bhim Army chief Chandrashekhar Azad

bhim army chief chandrashekhar azad

2 / 2Bhim Army chief Chandrashekhar Azad

PreviousNext

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद तिहाड़ जेल से रिहा होने के एक दिन बाद फिर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) के खिलाफ दिल्ली के जामा मस्जिद में हो रहे प्रदर्शन में शामिल हुआ। आपको बता दें कि चंद्रशेखर को पुरानी दिल्ली के दरियागंज में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था। जामा मस्जिद पहुंचे भीम आर्मी चीफ के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि शांतिपूर्ण विरोध हमारी ताकत है। सभी धर्मों के लोग जो हमारा समर्थन करते हैं, उन्हें बड़ी संख्या में मिलकर यह साबित करना चाहिए कि ये विरोध अकेले मुसलमानों के नेतृत्व में नहीं है। 

दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को जमानत दी थी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने उन्हें कुछ शर्तों के साथ राहत दी थी। आजाद को जमानत देते हुए अदालत ने कहा था कि वह चार हफ्तों तक दिल्ली नहीं आ सकेंगे और चुनावों तक कोई धरना आयोजित नहीं करेंगे। अदालत ने यह भी कहा था कि सहारनपुर जाने से पहले आजाद जामा मस्जिद समेत दिल्ली में कही भी जाना चाहते हैं, तो पुलिस उन्हें एस्कॉर्ट करेगी। न्यायाधीश ने कहा था कि विशेष परिस्थितियों में विशेष शर्तों की जरूरत होती है।

आजाद के संगठन ने पुलिस की अनुमति के बगैर 20 दिसंबर को संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च का आयोजन किया था, जिसके बाद चंद्रशेखर को गिरफ्तार किया गया था। 


     

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bhim Army chief Chandrashekhar Azad also reached in protest against Citizenship Amendment Act and National Register of Citizens at Jama Masjid in Delhi