ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशभगवंत मान पहुंचे दिल्ली, सुनीता केजरीवाल से भी होगी मुलाकात; कैबिनेट फेरबदल और हार पर मंथन

भगवंत मान पहुंचे दिल्ली, सुनीता केजरीवाल से भी होगी मुलाकात; कैबिनेट फेरबदल और हार पर मंथन

। आम आदमी पार्टी सूत्रों का कहना है कि दिल्ली यात्रा में वह कैबिनेट विस्तार पर बात करेंगे। इसके अलावा पंजाब के नतीजों को लेकर भी मंथन हो सकता है। भगवंत मान की सुनीता केजरीवाल से भी मुलाकात होगी।

भगवंत मान पहुंचे दिल्ली, सुनीता केजरीवाल से भी होगी मुलाकात; कैबिनेट फेरबदल और हार पर मंथन
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 01:27 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान आज दिल्ली पहुंच गए हैं। लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को पंजाब से महज तीन सीटें ही मिली हैं, जहां उसकी उम्मीद कम से कम आधा दर्जन सीटों की थी। आम आदमी पार्टी सूत्रों का कहना है कि दिल्ली यात्रा में वह कैबिनेट विस्तार पर बात करेंगे। इसके अलावा पंजाब के नतीजों को लेकर भी मंथन हो सकता है। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली में वह संजय सिंह समेत कई सीनियर नेताओं से मुलाकात करें। वहीं पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीत केजरीवाल से भी उनकी मीटिंग तय हुई है। अरविंद केजरीवाल फिलहाल शराब घोटाले के मामले में तिहाड़ जेल में बंद हैं।

अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव के दौरान कुछ दिनों की जमानत दे दी थी, लेकिन उन्हें 2 जून को वापस जेल जाना पड़ा था। AAP के आंतरिक सूत्रों का कहना है कि जालंधन पश्चिम विधानसभा सीट पर 10 जुलाई को उपचुनाव है। वहां किसे उम्मीदवार बनाया जाए, इस पर भी यात्रा में बात होगी। जालंधर पश्चिम सीट से शीतल अंगुराल ने पार्टी छोड़ दी थी और वह भाजपा का हिस्सा बन गए थे। इसके बाद जालंधर सीट से सांसद रहे सुशील कुमार रिंकू भी भाजपा में चले गए थे। आम आदमी पार्टी ने आम चुनाव में अकाली दल से आए पवन कुमार टीनू को उतारा था, जो हार गए।

आम आदमी पार्टी को पंजाब में करारा झटका लगा है, जो 92 सीटें जीत कर सत्ता में आई थी। ऐसे में जालंधर पश्चिम सीट जीतकर वह अपनी ताकत दिखाना चाहेगी। मंगलवार को ही भगवंत मान ने लुधियाना और जालंधर सीटों पर हार की समीक्षा की थी। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा था कि आप लोगों को उपचुनाव के लिए तैयार रहना होगा। भगवंत मान सरकार में मंत्री गुरमीत सिंह मीत हायर अब लोकसभा चले गए हैं। ऐसे में उनकी जगह पर भी किसी को लेना होगा। यही नहीं उन 4 मंत्रियों को हटाया भी जा सकता है, जो चुनाव में उतरे, लेकिन पराजित हो गए।

पंजाब में इन मंत्रियों पर लटकी तलवार, चुनाव में मिली है हार

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. बलबीर सिंह, एनआरआई मामलों के मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल, परिवहन मंत्री लालजीत सिंह भुल्लर और कृषि मंत्री गुरमीत सिंह खुद्दियां चुनाव में उतरे थे। इन सभी को हार मिली है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि कैबिनेट में फेरबदल पर बगावत होने का भी डर है। बता दें कि सोमवार को अमृतसर और फतेहगढ़ साहिब सीटों पर प्रदर्शन की समीक्षा थी। इस दौरान अमृतसर के तीन विधायक भगवंत मान की मीटिंग में नहीं पहुंचे। इससे पार्टी को बगावत का डर भी है।

Advertisement