ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशबठिंडा मिलिस्ट्री स्टेशन गोलीबारी: देसाई ने ही चुराई INSAS रायफल, 4 जवानों की कर दी हत्या

बठिंडा मिलिस्ट्री स्टेशन गोलीबारी: देसाई ने ही चुराई INSAS रायफल, 4 जवानों की कर दी हत्या

Bathinda Firing: बठिंडा मिलिट्री स्टेशन में गोलीबारी में हुई चार जवानों की मौत के मामले में पंजाब पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। खबर है कि इस मामले में सेना के एक जवान को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बठिंडा मिलिस्ट्री स्टेशन गोलीबारी: देसाई ने ही चुराई INSAS रायफल, 4 जवानों की कर दी हत्या
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,बठिंडाMon, 17 Apr 2023 01:11 PM
ऐप पर पढ़ें

बठिंडा मिलिट्री स्टेशन में गोलीबारी में हुई चार जवानों की मौत के मामले में पंजाब पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। खबर है कि इस मामले में सेना के देसाई मोहन नाम के एक जवान को गिरफ्तार कर लिया गया है। सेना ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि देसाई ने ही चारों जवानों की जान ली थी। 

दक्षिण पश्चिम कमान मुख्यालय की तरफ से जानकारी साझा की गई है कि मोहन ने INSAS रायफल चुराने और चार सहकर्मियों को मारने की बात कबूल कर ली है। आगे बताया गया कि मोहन फिलहाल पुलिस हिरासत में है और जानकारियां हासिल की जा रही हैं। सेना ने टेरर एंगल की बात से इनकार किया है।

पंजाब पुलिस ने बठिंडा मिलिट्री स्टेशन में पिछले सप्ताह बुधवार को हुई 4 जवानों की हत्या का मामला सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में मुख्य गवाह मोहन नामक गनर को गिरफ्तार किया है। पुलिस को शुरू से दो जवानों गनर नागा सुरेश और गनर देसाई मोहन पर शक था।  बाद में पुलिस का शक देसाई मोहन पर गहराता गया और आखिरकार सोमवार को उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

इससे पहले मिलिट्री स्टेशन पर गोलीबारी की घटना की जांच करते हुए पंजाब पुलिस ने सेना के एक दर्जन जवानों को धारा 160 के तहत बयान दर्ज करवाने के लिए नोटिस जारी किया था। ये जवान सोमवार को बठिंडा में अपने बयान दर्ज करवा सकते हैं। इस मामले में आर्मी खुद भी जांच में जुटी है। बठिंडा कैंट के एसएचओ गुरदीप सिंह ने कहा कि जवानों को पुलिस के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।

पिछले सप्ताह बुधवार सुबह हुई फायरिंग में सेना के 4 जवानों की मौत हो गई थी। 80 मीडियम रेजिमेंट के ये जवान ऑफिसर्स मेस में गार्ड ड्यूटी पर तैनात थे। आर्मी ने बताया था कि 4 मौतों के अलावा जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है।

FIR के आधार पर मोहन एकमात्र चश्मदीद था, लेकिन वह चार जवानों की हत्या का आरोपी निकला। रविवार को ही बठिंडा पुलिस ने चार जवानों को पूछताछ के लिए बुलाया था, जिनमें मोहन का नाम भी शामिल था। उसने दावा किया था कि घटनास्थल के पास चेहरा कवर किए कुर्ता पायजामा पहने दो लोगों को देखा था।

मोहन ने दावा किया है कि उसने उत्पीड़न को लेकर चार जवानों की हत्या की है। हालांकि, पुलिस अधिकारी ने अब तक कथित उत्पीड़न से जुड़ी जानकारी साझा नहीं की है। फिलहाल, मोहन को बठिंडा जिला न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Advertisement