DA Image
23 नवंबर, 2020|3:35|IST

अगली स्टोरी

बेंगलुरू-मैसूरु रेल ट्रैक ने पास किया पीयूष गोयल का 'वाटर गिलास' टेस्ट, यात्रा में नहीं गिरा एक बूंद भी पानी

railway

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि बेंगलुरु-मैसूरु रेल मार्ग पर उच्च गति की यात्रा गहन ट्रैक रखरखाव कार्य के बाद इतनी सुगम थी कि इसने वाटर ग्लास टेस्ट को पास कर लिया, जिसमें एक मेज पर रखे पानी से पूरा तरह भरे एक गिलास की एक बूंद भी पूरे रास्ते नहीं गिरी।

मंत्री ने शुक्रवार रात एक ट्वीट में एक वीडियो साझा किया, जिसमें एक रेल कंपार्टमेंट में टेबल पर रखे पानी से भरे गिलास को दिखाया गया था जिससे हाल की यात्रा के दौरान एक बूंद पानी भी नहीं गिरा था।

उन्होंने ट्वीट किया “यात्रा इतनी सुगम थी कि ट्रेन की उच्च गति के समय भी पानी की एक बूंद भी ग्लास से बाहर नहीं गिरी। ट्रेन कर्नाटक के बेंगलुरु और मैसूरु के बीच सघन ट्रैक रेलवे ट्रैक के रख-रखाव के परिणाम को सभी देखें”।

रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि पिछले छह महीनों में 40 करोड़ रुपये की लागत से 130 किलोमीटर से अधिक ट्रैक पर काम किया गया था। उन्होंने कहा कि गिट्टी डालने, पटरियों की मरम्मत और तटबंधों को मजबूत करने जैसे कुछ काम किए गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bangalore Mysuru rail track passes Piyush Goya s water glass test not a drop of water fell in the journey