Balakot Air Strikes BY Indian Air Force Eye Witnesses Say its Feel Like massive disaster happen - बालाकोट से आंखों देखी: बाशिंदे बोले, ऐसा लगा मानो जलजला आ गया हो DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बालाकोट से आंखों देखी: बाशिंदे बोले, ऐसा लगा मानो जलजला आ गया हो

fighter jets lands on Lucknow-Agra Expressway

पुलवामा हमले के जवाब में जब भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान मंगलवार तड़के पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर बम बरसा रहे थे, तब वहां गहरी नींद में सो रहे लोगों को लगा मानो जलजला आ गया हो। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक भारतीय वायुसेना का हमला काफी खौफनाक था। ऐसा महसूस हो रहा था कि भूकंप के तेज झटकों से जमीन कांप रही है। बालाकोट के जाबा टॉप निवासी मोहम्मद आदिल ने कहा, ‘सुबह तीन बजे के आसपास का समय था। बाहर से बहुत ही खौफनाक आवाज आई। ऐसा लगा जलजला आया हो। हम सब एक झटके में उठकर बैठ गए। पांच-दस मिनट बाद एहसास हुआ कि बम धमाका हुआ है। इसके बाद हम रात भर सो नहीं पाए। पल-पल यही डर सताता रहा कि कहीं कोई और बम न गिर जाए।’

IAF Air Strikes: LoC पार जाकर ध्वस्त किए जैश के आतंकी कैम्प, 10 बातें

आदिल ने बताया, "एक के बाद एक पांच धमाके हुए, जिसमें कई लोग जख्मी हो गए। फिर कुछ देर बाद आवाज आनी बंद हो गई। सुबह हम धमाके वाली जगह पर पहुंचे तो देखा वहां बड़े-बड़े गड्ढे हो गए थे। आसपास के कई घर ढह गए थे।" बालाकोट के एक दूसरे प्रत्यक्षदर्शी वाजिद शाह ने भी धमाके की आवाज से दहशत में चले जाने की बात स्वीकारी। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगा जैसे कि कोई राइफल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर रहा है। तीन बार धमाके की आवाज सुनाई दी, फिर खामोशी छा गई।’

IAF ने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े आतंकी ठिकाने को किया तबाह

भारतीय वायु सेना ने मंगलवार को तड़के सीमापार पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद के ठिकाने को निशाना बनाया जिसमें बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए। इस अभियान में मारे गए आतंकियों में जैश ए मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर का बहनोई युसूफ अजहर शामिल है। 
     
भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने नई दिल्ली में संवाददाताओं को बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में एक और आत्मघाती आतंकी हमला करने की साजिश रच रहा है और फिदायीन जिहादियों को इस काम के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस जानकारी के बाद सीमा के दूसरी ओर जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी शिविर पर गैर-सैन्य एकतरफा हमले किए गए।

IAF स्ट्राइक पर लता मंगेशकर ने सेना के सम्मान में कहे ये शब्द

गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना के मंगलवार सुबह चलाये गए अभियान में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया गया। इस अभियान में बड़ी संख्या में जैश के आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए। इस शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी कर रहा था, जो जैश प्रमुख मसूद अजहर का बहनोई था।

गोखले ने कहा कि हमने पाक को आतंकी हमले के सबूत कई बार दिए लेकिन पाकिस्तान ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। यह ऐहतियातन उठाया गया कदम और गैर सैन्य कार्रवाई थी जिसका मकसद आतंकी ठिकानों को निशाना बनाना था। हमने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया जो घने जंगल में पहाड़ियों पर थे और नागरिक इलाकों से दूर थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Balakot Air Strikes BY Indian Air Force Eye Witnesses Say its Feel Like massive disaster happen