Ayodhya verdict on kartik poornima 2019 snan more then five lakh devotees gathers - 'सुप्रीम' फैसले के बाद अयोध्या में उमड़ पड़े 5 लाख से ज्यादा भक्त, जानें वजह DA Image
15 दिसंबर, 2019|11:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'सुप्रीम' फैसले के बाद अयोध्या में उमड़ पड़े 5 लाख से ज्यादा भक्त, जानें वजह

ayodhya case

अयोध्या विवाद (Ayodhya Verdict) पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सुरक्षा की बंदिशों से उपजी आशंकाएं निर्मूल साबित हुईं। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के लिए उम्मीद से ज्यादा रामभक्त उमड़े। लाखों श्रद्धालुओं की मौजूदगी में सरयू के सुरम्य तट पर कार्तिक पूर्णिमा का बहुरंगी मेला सजा। मेलार्थियों ने नदी में आस्था की डुबकी लगाई। साथ ही श्रीरामजन्मभूमि में रामलला का दर्शन कर आने वाले समय में भव्य मंदिर निर्माण की कल्पनाओं को अपनी आंखों में उकेरा। भोर में चार बजे से ही हर आयु वर्ग के महिला और पुरुष सरयू में स्नान के लिए घाटों पर पहुंचने लगे। कुछ ही पलों में सभी घाटों पर रामभक्तों का रेला उमड़ पड़ा। स्नान के साथ दान-पुण्य का दौर शुरू हुआ। सूर्योदय के साथ भीड़ बढ़ती गई। कड़े सुरक्षा प्रबंधकों के बीच दोपहर बाद तक स्नान जारी रहा। 

रामलला के दर्शन को लगी लंबी कतार

स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने श्रीरामजन्मभूमि, हनुमानगढ़ी, कनक भवन, नागेश्वरनाथ समेत अन्य मंदिरों की रुख किया। सुबह से ही श्रीरामजन्मभूमि के बाहर रामलला का दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की लंबी कतारें लग गईं। कड़ी जांच प्रक्रिया से गुजरने के बाद भक्तों को जन्मभूमि में प्रवेश मिला। रामजन्मभूमि परिसर में रामलला का दर्शन करने के लिए पहुंचे रामभक्तों के बीच सिर्फ एक ही चर्चा होती रही कि अब यहां जल्द ही भव्य राम मंदिर बन जाएगा और रामलला टेंट से निकल कर अपने महल में विराजमान होंगे। 

Ayodhya Verdict: ओवैसी की बयानबाजी पर भड़के बरेलवी उलेमा, कहा- न करें भड़काने की कोशिश

पांच लाख से अधिक श्रद्धालु पहुंचे

उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद अयोध्या में पहली बार कार्तिक पूर्णिमा स्नान जैसा बड़ा आयोजन हुआ। पूर्व के वर्षों की तरह 10 से 15 लाख तक की भीड़ तो नहीं जुटी, लेकिन फिर भी पांच लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने सरयू में स्नान किया। वाहनों की आवाजाही बंद होने से लंबी दूरी लोगों को पैदल ही तय करनी पड़ी। फैसला आने के बाद पहली बार मंगलवार को रामजन्मभूमि और हनुमानगढ़ी जाने वाले रास्तों पर बिना आईडी दिखाए लोगों को प्रवेश दिया गया।  

अयोध्या विवाद पर SC फैसले के बाद हिंदू पक्ष दायर कर सकता है पुनर्विचार याचिका

राम मंदिर बन जाएगा तो फिर आएंगे

रामलला का दर्शन कर जन्मभूमि से बाहर निकले हरियाणा के गुड़गांव से आए धर्मेंन्द्र गिरि ने कहा कि अब अगली बार तब आएंगे जब भव्य मंदिर बन जाएगा। पहली बार दिल्ली से यहां आए राजीव सिंह तोमर ने कहा कि फैसला आने के दिन ही तय कर लिया था कि रामलला का दर्शन करने अयोध्या चलना है। यह संकल्प आज पूरा हो गया। मंदिर निर्माण शुरू होने पर फिर आएंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ayodhya verdict on kartik poornima 2019 snan more then five lakh devotees gathers