DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अयोध्या: VHP की धर्मसभा से पहले माहौल तनावपूर्ण

Tens of thousands of Hindu religious figures and their followers were descending on Ayodhya on Satur

राम मंदिर निर्माण के समर्थन में आज होने वाली विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा होने वाली है। विहिप की धर्मसभा के मद्देनर शहर में हुई सुरक्षा के पहरे से अयोध्यावासी भी सहमे हुए हैं। दोपहर 12 बजे से विहिप की विराट धर्मसभा होनी है। ऐसे में रामनगरी का माहौल सुबह से गरम होगा। अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद के तत्वाधान में होने वाली धर्मसभा के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। कार्यक्रम में करीब दो से ढाई लाख लोगों के आने की संभावना है। कार्यक्रम का आयोजन नगर के रामघाट चौराहा स्थित बगिया पर होगा।

धर्मसभा की शुरुआत सुबह 11 बजे होगी। एक घंटे तक संगीत कार्यक्रम होगा। दोपहर 12 बजे संतों व विहिप के पदाधिकारियों का उद्बोधन शुरू होगा। जिसे मुख्य रूप से रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास , हरिद्वार के महंत सत्यनिष्ठा जी महाराज, चित्रकूट धाम के महंत श्री राम भद्राचार्य जी महाराज और विहिप के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय सम्बोधित करेंगे। उद्बोधन का कार्यक्रम शाम 4 बजे तक चलेगा। कार्यक्रम के लिए कुल 15 पार्किंग स्थल बनाए गए हैं। कार्यक्रम में करीब 10 हजार बाइक, आठ हजार कार, छह हजार बसों से रामभक्त आएंगे। बाकी का आगमन ट्रेनों से होगा।

अयोध्या में लगने वाली भगवान श्रीराम की 221 मीटर ऊंची प्रतिमा को मंजूरी

भीड़ नियंत्रित करने को सरकार चौकस

अयोध्या में राममंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिन्दू परिषद की आज होने वाली धर्मसभा में साधु-संतों और रामभक्तों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार चौकसी बरत रही है। धर्मसभा पर लगातार निगहबानी कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देर रात प्रदेश के प्रशासनिक और पुलिस आला अफसरों की बैठक बुलाई। पिछले कई दिनों से मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार करने के बाद अयोध्या में कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे हैं। 

उधर, पुलिस महानिदेशक ओ.पी.सिंह और एडीजी (कानून-व्यवस्था) आनन्द कुमार अयोध्या भेजे गए वरिष्ठ आईपीएस अफसरों से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं। एडीजी (कानून-व्यवस्था)  ने शनिवार को कहा भी है कि विवादित परिसर के चारों और पुलिस और केन्द्रीय बलों को सुरक्षा में लगाया गया है। रामलला के दर्शन के लिए पहले से निर्धारित व्यवस्थाओं के तहत ही दर्शनार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा। पूरे अयोध्या में धारा-144 लागू है। इसके पालन के लिए भीड़ को एक जुट होने से रोका जाएगा। जगह-जगह बेरीकेडिंग लगाई गई हैं।

हम अयोध्या राजनीति करने नहीं आए, मंदिर बनाने की तारीख चाहिए: उद्धव
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ayodhya tense as Ram temple pitch intensifies