DA Image
31 मई, 2020|4:33|IST

अगली स्टोरी

अयोध्या: राम मंदिर के भूमि पूजन में संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ होंगे पीएम नरेंद्र मोदी

madi and bhagwat

रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के मुख्य मंदिर के लिए भूमि पूजन 30 अप्रैल को होना तय हो गया है। इस भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत भी अयोध्या आएंगे। इसकी तैयारियां भी सांगठनिक स्तर पर करने का निर्देश दे दिया गया है।  कोरोना वायरस के आतंक ने इन तैयारियों पर फिलहाल विराम लगा दिया है। संगठन के अधिकृत सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रामजन्मभूमि में भूमि पूजन के बाद प्रधानमंत्री व संघ प्रमुख भागवत के रास्ते अलग-अलग हो जाएंगे। 

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री यहां जनसभा को भी सम्बोधित करेंगे और कई योजनाओं की भी घोषणा करेंगे। फिलहाल उनकी जनसभा का स्थान अभी नियत नहीं किया गया है। इसके लिए कई स्थानों को लेकर संगठन स्तर पर मंथन किया जा रहा है। उधर संघ प्रमुख भागवत बड़ी देवकाली के निकट स्थित साकेतपुरी कॉलोनी में नवनिर्मित आरएसएस कार्यालय के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसी लोकार्पण को देखते हुए प्रदेश के उप मुख्यमंत्री व लोक निर्माण मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने संघ कार्यालय के सामने परिक्रमा मार्ग से बड़ी देवकाली मार्ग के बीच चार करोड़ की लागत से प्रस्तावित सम्पर्क के जीर्णोद्धार को स्वीकृति प्रदान कर दी है।

जनता कर्फ्यू के कारण अनुष्ठान की तिथि बढ़ी
रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला  को परिसर में ही निर्माणाधीन अस्थाई मंदिर में स्थानान्तरित करने के लिए शुरू होने वाले अनुष्ठान की तिथि फिर एक दिन बढ़ा दी गई है। अब यह अनुष्ठान 23 मार्च से प्रारम्भ होगा। यह जानकारी रामजन्मभूमि ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने दी। 

अयोध्या के रामनवमी मेला पर अघोषित प्रतिबंध

अयोध्या में आगामी 25 मार्च से शुरू होने वाले चैत्र रामनवमी मेला पर भी कोरोना कोविड 19 के प्रकोप का प्रभाव पड़ा है। जिला प्रशासन ने अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं के प्रवेश पर आगामी दो अप्रैल तक के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। यह जानकारी जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने शनिवार को कलेक्ट्रेट में पत्रकारों से बातचीत में दी। उन्होंने बताया कि अयोध्या में सरयू नदी सहित सभी कुण्डों व सरोवरों में सामूहिक स्नान पर भी रोक लगा दी गयी है।

अयोध्या जनपद के बार्डर पर रोक कर श्रद्धालुओं को वापस उनके स्थलों पर भेज दिया जायेगा।  डीएम ने बताया कि रामलला के दर्शन पर रोक नहीं लगायी गयी है। श्रीराम जन्मभूमि परिसर को पूरी तरह से सेनेटाइज कर दिया गया है। रामलला के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं को भी सेनेटाइज करने की व्यवस्था की गई है।  अयोध्या जनपद के सभी होटलों, धर्मशालाओं व लॉज में एडवांस बुकिंग निरस्त कर दी गयी है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ayodhya: PM Narendra Modi to be with rss chief Mohan Bhagwat in Bhumi Pujan of Ram temple