DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Pulwama Terrorist Attack on CRPF: पुलवामा में सीआरपीएफ पर हमला, जानिए देश की सुरक्षा में कितना है केन्द्रीय बल का योगदान

Central Reserve Police Force (File Pic)

Pulwama Terrorist Attack on CRPF: केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल यानि सीआरपीएफ। केन्द्र सरकार के अधीन आनेवाले सीआरपीएफ की तैनाती पूरे देशभर में होती है और हर जगह इसके केन्द हैं। किसी भी तरह की आपातकालीन स्थिति में या कानून व्यवस्था बिगड़ने के वक्त उन्हें फौरन वहां पर तैनात किया जाता है। चूंकि, सीआरपीएफ राज्य पुलिस के साथ बेहद तालमेल के साथ काम करती है, लिहाजा उनका यह काम काफी अनुकूल और सामंजस्यपूर्ण रहता है। पिछले कई सालों से सीआरपीएफ ने लोगों और राज्य‍ प्रशासन के द्वारा सबसे अधिक स्वी्कार्य बल का दर्जा हासिल कर लिया है।

सीआरपीएफ का मुख्य काम-

भीड़ को नियंत्रित करना।

दंगों पर नियंत्रण करना।

आंतकियों को मार गिराने या उन्हे हटाने का ऑपरेशन करना।

वामपंथी उग्रवाद से निपटना।

हिंसक क्षेत्रों में चुनावों के दौरान बड़े पैमाने पर सुरक्षा व्यवस्था को बनाने के लिए राज्य पुलिस के साथ समन्व‍य।

अति विशिष्ट व्यक्तियों और महत्वपपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा।

पर्यावरण के हनन को रोकने पर निगरानी और स्था नीय वनस्परतियों और जीवों का संरक्षण करना।

युद्धकाल के दौरान आक्रामक पूर्ण ढंग से लड़ना।

प्राकृतिक आपदाओं के समय में बचाव और राहत कार्य करना।

चुनाव के दौरान भी सीआरपीएफ की सुरक्षा में अहम भूमिका

कानून व व्‍यवस्‍था बनाएं रखने और उग्रवाद को खत्‍म करने के अलावा, पिछले कई वर्षों से सीआरपीएफ की भूमिका शांतिपूर्ण चुनाव करवाने में भी अह्म रही है। जम्‍मू और कश्‍मीर, बिहार और उत्‍तरपूर्व के राज्‍यों में चुनावों के दौरान, सीआरपीएफ की भूमिका सराहनीय और महत्‍वपूर्ण होती है। संसदीय चुनाव और राज्य विधानसभा चुनाव के दौरान, सीआरपीएफ सुरक्षा व्यवस्था में बहुत विशेष ढंग से मुस्‍तैद रहती है।

ये भी पढ़ें: J&K: पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला, IED ब्लास्ट में 18 CRPF जवान शहीद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pulwama Terrorist Attack on CRPF: Attack on CRPF in Pulwama Know how much central force contribution in the country security