DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  AstraZeneca ने सीरम इंस्‍टीट्यूट को भेजा कानूनी नोटिस, पूनावाला ने मांगी सरकारी मदद

देशAstraZeneca ने सीरम इंस्‍टीट्यूट को भेजा कानूनी नोटिस, पूनावाला ने मांगी सरकारी मदद

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mrinal Sinha
Thu, 08 Apr 2021 07:39 AM
AstraZeneca ने सीरम इंस्‍टीट्यूट को भेजा कानूनी नोटिस, पूनावाला ने मांगी सरकारी मदद

कोरोना वैक्सीन की सप्लाई में देरी होने पर एस्ट्राजेनेका ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) को कानूनी नोटिस भेजा है।  इसलिए एसआईआई ने कोवीशील्‍ड का उत्‍पादन दोगुना करने के लिए भारत सरकार से ग्रांट के रूप में मदद मांगी है। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोरोना वैक्सीन को सीरम भारत में कोविशील्ड ब्राड नेम से बना और बेच रही है। एसआईआई के सीईओ अदार पूनावाला ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 वैक्सीन की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए करीब 3,000 करोड़ रुपये की जरूरत होगी।

पूनावाला ने एक टीवी चैनल से कहा,‘हमें मोटे तौर पर 3,000 करोड़ रुपये की जरूरत है, जो एक छोटा आंकड़ा नहीं है, क्योंकि हमने पहले ही हजारों करोड़ रुपये खर्च कर दिए हैं। हमें अपनी क्षमता निर्माण के लिए अन्य नए तरीके तलाशने होंगे।’ उन्होंने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि कोविशील्ड वैक्सीन की उत्पादन क्षमता जून से प्रति माह 11 करोड़ तक बढ़ जाएगी। 

पूनावाला ने कहा कि कंपनी प्रति दिन 20 लाख खुराक का उत्पादन कर रही है। उन्होंने कहा,‘हमने अकेले भारत में 10 करोड़ से अधिक खुराक दी हैं और अन्य देशों को लगभग छह करोड़ खुराक का निर्यात किया है।’ सीरम इंस्टीट्यूट के साथ ही अन्य वैक्सीन उत्पादकों ने भी मुनाफा न लेने के लिए सरकार से सहमति जताई है।

उन्होंने कहा कि दुनिया में कोई भी दूसरी वैक्सीन कंपनी इतनी घटी कीमतों पर टीके उपलब्ध नहीं करा रही है। पूनावाला ने एक अन्य साक्षात्कार में कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट अन्य के मुकाबले भारत की अस्थाई जरूरतों को प्राथमिकता दे रहा है। कंपनी वर्तमान में छह से सात करोड़ टीके प्रति माह उत्पादन कर रही है।

संबंधित खबरें