ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशगुवाहाटी में एसटीएफ के हत्थे चढ़ा बिजनेसमैन, आतंकियों की कर रहा था मदद

गुवाहाटी में एसटीएफ के हत्थे चढ़ा बिजनेसमैन, आतंकियों की कर रहा था मदद

असम में एसटीएफ ने गुवाहाटी के नामी बिजनेसमैन को गिरफ्तार किया है। वह मणिपुर में ऐक्टिव आतंकियों को ड्रोन की सप्लाई कर रहा था।

गुवाहाटी में एसटीएफ के हत्थे चढ़ा बिजनेसमैन, आतंकियों की कर रहा था मदद
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,सिलचरMon, 17 Jun 2024 07:15 AM
ऐप पर पढ़ें

असम में एसटीएफ ने गुवाहाटी के बिजनेसमैन को गिरफ्तार किया है। उस पर आरोप है कि वह मणिपुर में ऐक्टिव आतंकियों की मदद कर रहा था।  पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वह मणिपुर में आतंकी समूहों को ड्रोन और हथियारों की सप्लाई कर चुका है। आरोपी बिजनेसमैन पर यूएपीए समेत कई गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

असम पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने शनिवार शाम आरोपी को गिरफ्तार किया। उसकी पहचान गुवाहाटी के नूनमाटी इलाके के संजीब कुमार मिश्रा के रूप में हुई है। एसटीएफ ने एक बयान में कहा, "मणिपुर में आपत्तिजनक सामग्रियों की सप्लाई रोकने और क्षेत्र में शांति कायम करने के प्रयास में एसटीएफ ने एक और ऑपरेशन सफलतापूर्वक पूरा किया। संजीब कुमार को गिरफ्तार किया गया है।" 

एसटीएफ ने संजीब कुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 121 (भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ना) और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) की धारा 16 और 18 के तहत मामला दर्ज किया है।

एसटीएफ आईजी पार्थ सारथी महंत ने कहा कि इससे पहले शुक्रवार को उनकी टीम ने गुवाहाटी शहर के बाहरी इलाके में मणिपुर के एक आतंकवादी ग्रुप के तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। आतंकवादी बड़ी संख्या में ड्रोन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बैटरियां ले जा रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें केंद्रीय खुफिया एजेंसी से असम में संदिग्ध आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिली और फिर उन्होंने अभियान चलाया।

शुक्रवार सुबह एसटीएफ टीम ने गुवाहाटी शहर के पास सोनापुर इलाके में मणिपुर जा रहे एक वाहन को रोका। उनके पास से ड्रोन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली 10 बैटरियां बरामद कीं गई। गुवाहाटी में गिरफ्तार तीन संदिग्ध उग्रवादियों में से दो नाबालिग हैं और इसलिए पुलिस ने उनके नाम उजागर नहीं किये हैं। हालांकि मुख्य आरोपी की पहचान खैगौलेन किपगेन (27) के रूप में हुई है, जो मणिपुर के कांगपोकपी जिले का रहने वाला है।

उन्होंने कहा, "हमें उग्रवादियों के होने की जानकारी खुफिया सूत्रों से मिली थी। हमें बताया गया था कि आतंकवादी समूह ऐसे उपकरण खरीदने का प्रयास कर सकते हैं जिनका इस्तेमाल उपद्रव और आतंकवाद फैलाने के लिए हो। इसलिए हमने खुफिया जानकारी के बाद ऑपरेशन शुरू किया और आतंकियों को दबोचा।"