DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › अमित शाह के दखल से बनेगी बात, असम-मिजोरम सीमा विवाद सुलझाने को फिर से वार्ता को तैयार
देश

अमित शाह के दखल से बनेगी बात, असम-मिजोरम सीमा विवाद सुलझाने को फिर से वार्ता को तैयार

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Priyanka
Sun, 01 Aug 2021 01:18 PM
अमित शाह के दखल से बनेगी बात, असम-मिजोरम सीमा विवाद सुलझाने को फिर से वार्ता को तैयार

असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद की वजह से बीते हफ्ते हुए खूनी खेल के बाद अब मामला शांत होते दिख रहा है। एक हफ्ते चली तनातनी को थामने में गृह मंत्री अमित शाह ने बड़ी भूमिका निभाई है। तनाव की शुरुआत से ही शाह दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत जारी रखे हुए थे और अब मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा के ट्वीट से संकेत मिल रहे हैं कि गृह मंत्री के दखल के बाद दोनों राज्यों के बीच बात बन सकती है। मिजोरम सीएम ने बताया है कि अमित शाह से फोन पर हुई बातचीत के बाद असम के साथ विवाद को वार्ता के जरिए सुलझाया जाएगा। उन्होंने मिजोरम के लोगों से अपील की वे विवाद को आगे बढ़ाने से बचें।

सीएम जोरामथांगा ने रविवार को ट्वीट किया, 'केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से फोन पर हुई बातचीत के बाद हम मिजोरम-असम सीमा विवाद को सार्थक वार्ता के जरिए सुलझाने को तैयार हो गए हैं।' इसके बाद दोनों राज्यों के बीच तनाव कम करने के लिए एक बार फिर से नए दौर की वार्ता शुरू हो गई है।

बता दें कि असम और मिजोरम के बीच बीते हफ्ते 26 जुलाई को सीमा विवाद इतना बढ़ गया कि गोलीबारी तक हो गई। इसमें असम पुलिस के 6 जवान मारे गए और एक आम नागरिक की भी मौत हो गई। इतना ही नहीं तनातनी इतनी बढ़ गई कि मिजोरम ने इस वारदात को लेकर दायर की गई अपनी एफआईआर में असम के मुख्यमंत्री और अन्य शीर्ष अधिकारियों तक का नाम दे दिया। मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) जॉन एन ने बताया कि इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामले दर्ज किये गए हैं।

दूसरी तरफ असम सरकार ने लोगों को यात्रा परामर्श जारी करके राज्य के लोगों से अशांत परिस्थितियों के मद्देनजर मिजोरम की यात्रा से बचने और वहां काम करने वाले और रहनेवाले राज्य के लोगों से अत्यंत सावधानी बरतने को कहा। किसी भी राज्य सरकार द्वारा जारी किया गया इस तरह का यह शायद पहला परामर्श है। 

इस खूनी खेल से दो दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के शिलांग में पूर्वोत्तर के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की थी।

जून से सीमा पर जारी है तनाव
जून से मिजोरम-असम की सीमा पर तनाव जारी है, जब असम पुलिस ने वायरेंगटे से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित 'ऐटलांग हनार इलाके पर कथित तौर पर नियंत्रण कर लिया और पड़ोसी राज्य पर इसकी सीमा का अतिक्रमण करने का आरोप लगाया था। आज हुई हिंसा को लेकर मिजोरम के पुलिस उप महानिरीक्षक (उत्तरी रेंज) लालबियाकथांगा खियांगते ने पीटीआई-भाषा को बताया कि घटना अशांत क्षेत्र में एटलांग धारा के पास रात करीब साढ़े 11 बजे हुई। उन्होंने कहा कि ये गांव वैरेंगटे के किसानों के थे, जो असम का निकटतम सीमावर्ती है।

संबंधित खबरें