DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीडियो वायरल होने के बाद बोले अश्चिनी चौबे, मैं सो नहीं रहा था

ashwini kumar choubey

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से लगातार हो रही मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की मौत का आंकड़ा 121 तक पहुंच गया है। रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने मुजफ्फरपुर के अस्पताल का दौरा किया और इस दौरान उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे मौजूद थे। केन्द्रीय मंत्री के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अश्चिनी कुमार चौबे झपकी लेते हुए नजर आए। संसद के बाहर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा है कि मैं मनन चिंतन भी करता हूं ना और मैं सो नहीं रहा था। 

बिहार में एईएस की रोकथाम और इलाज के लिए हरसंभाव सहायता देगा केंद्र : हर्षवर्द्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) की रोकथाम और उसके समुचित इलाज के लिए बिहार सरकार को हरसंभव वित्तीय एवं तकनीकी सहायता देने का आश्वासन देते हुये आज कहा कि इस बीमारी से सबसे अधिक प्रभावित जिला मुजफ्फरपुर में इंटर डिसिप्लीनरी रिसर्च सेंटर, वायरोलॉजी रिसर्च इंस्टीच्यूट की स्थापना के अलावा श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल (एसकेएमसीएच) परिसर में बच्चों के लिए अलग से सौ बेड वाले गहन चिकत्सा कक्ष (आईसीयू) भी बनाये जाएंगे।

डॉ. हर्षवर्द्धन ने यहां एसकेएमसीएच में एईएस से पीड़ित बच्चों, उनके परिजनों, चिकित्सकों और संबंधित अधिकारियों से बातचीत करने के बाद पत्रकारों से कहा कि वह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के रूप में वर्ष 2014 में भी यहां आये थे और हालात का जायजा लिया था। उन्होंने कहा कि लगभग हर वर्ष मॉनसून के पहले मुजफ्फरपुर और बिहार के कुछ अन्य जिलों में एईएस का प्रभाव रहता है और काफी संख्या में बच्चे इससे पीड़ति हो जाते हैं तथा इनमें कई की मौत भी हो जाती है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उन्होंने इस बीमारी से पीड़ित बच्चों एवं उनके परिजनों से बातचीत के बाद यह बात समाने आई कि ज्यादातर बच्चों में चमकी बुखार सुबह लगभग तीन बजे से लेकर छह बजे तक शुरू हुआ। ऐसे बच्चों को जितना जल्द से जल्द अस्प्ताल ले जाया जाये और वहां उनका सही तरीके से इलाज कराया जाये, यह सुनिश्चत करना बहुत आवश्यक है। जिन बच्चों को समय रहते अस्पताल ले जाया गया उनमें काफी बच्चे ठीक हो गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ashwini Kumar Choubey on sleeping during a media briefing of Union Health Minister on Bihar AES deaths