article 370 four changes in jammu kashmir - मोदी-शाह की जोड़ी का बड़ा फैसला, अनुच्छेद 370 समेत J&K में होंगे ये 4 बड़े बदलाव DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी-शाह की जोड़ी का बड़ा फैसला, अनुच्छेद 370 समेत J&K में होंगे ये 4 बड़े बदलाव

                                                                                 pti

विपक्षी सदस्यों के भारी विरोध के बीच सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त करने संबंधी एक संकल्प और राज्य को दो केंद्र शासित क्षेत्रों जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख में विभाजित करने के प्रावधान वाला एक विधेयक पेश किया। गृह मंत्री अमित शाह ने साथ ही जम्मू कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 भी पेश किया। 

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हमेशा से ही अस्थायी रहा है और पहले की सरकारों ने राजनीतिक इच्छा शक्ति के अभाव में और वोट बैंक की राजनीति के चलते इसे नहीं हटाया। गृह मंत्री ने कहा न तो हम वोट बैंक चाहते हैं और न ही हमारे अंदर राजनीतिक इच्छा शक्ति का अभाव है। बता दें कि केंद्र सरकार के इस फैसले के कारण जम्मू-कश्मीर में कई बड़े बदलाव हो जाएंगे। जानिए जम्मू कश्मीर पर हुए चार फैसलों से बदलावों बारे में: 

Article 370 हटाने का यही सही वक्त क्यों? अमित शाह ने खुद बताई वजह

1- आर्टिकल 370 हटाने का संकल्प, सिर्फ खंड एक लागू रहेगा

गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में एक संकल्प पेश किया जिसमें कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 370 के सभी खंड जम्मू कश्मीर में लागू नहीं होंगे। गृह मंत्री ने कहा, 'राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद अनुच्छेद 370 के सभी खंड लागू नहीं होंगे।' इससे पहले सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की एक घंटे लंबी बैठक चली। समझा जाता है कि इस बैठक में शीर्ष नेतृत्व ने जम्मू-कश्मीर से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की।

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को RSS प्रमुख ने बताया साहसिक कदम

2- जम्मू-कश्मीर के दो टुकड़े होंगे

केंद्र सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू एवं कश्मीर के पुनर्गठन का संकल्प पेश किया। इस विधेयक के अनुसार, जम्मू एवं कश्मीर को दो हिस्सों में बांट दिया जाएगा। इसमें जम्मू कश्मीर एक केंद्र शासित प्रदेश रहेगा, वहीं लद्दाख दूसरा केंद्र शासित प्रदेश होगा। 

3- लद्दाख अलग केंद्र शासित प्रदेश होगा, लेकिन विधानसभा नहीं होगी

अमित शाह ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू एवं कश्मीर में विधानसभा होगी लेकिन लद्दाख में विधानसभा नहीं होगी। उन्होंने कहा कि यह कदम सीमा पार आतंकवाद के लगातार खतरे को देखते हुए उठाया गया है।

राष्ट्रपति कोविंद ने जारी किया आदेश, J&K में भारत का संविधान लागू

4- जम्मू-कश्मीर विधानसभा के साथ केंद्र शासित प्रदेश होगा

केंद्र सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू एवं कश्मीर के पुनर्गठन का जो संकल्प पेश किया है उसके अनुसार, जम्मू कश्मीर भी एक केंद्र शासित प्रदेश होगा। हालांकि, वहां विधानसभा होगी।

LIVE: अनुच्छेद 370 पर सरकार के फैसले पर बोले आजाद, 'लोगों के दिलों में उतारने में होंगे विफल'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:article 370 four changes in jammu kashmir