ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशईरान के चंगुल से छूटी 'इजरायली' जहाज पर सवार भारतीय महिला, केरल पहुंची

ईरान के चंगुल से छूटी 'इजरायली' जहाज पर सवार भारतीय महिला, केरल पहुंची

विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मालवाहक जहाज एमएससी एरीज पर सवार भारतीय चालक दल में शामिल केरल के त्रिशूर की रहने वाली महिला कैडेट ऐन टेस्सा जोसफ कोचीन पहुंच चुकी हैं।

ईरान के चंगुल से छूटी 'इजरायली' जहाज पर सवार भारतीय महिला, केरल पहुंची
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 18 Apr 2024 05:44 PM
ऐप पर पढ़ें

ईरान द्वारा जब्त किए गए इजरायल से संबंध रखने वाले मालवाहक जहाज के चालक दल के 17 भारतीय सदस्यों में से एकमात्र महिला को गुरुवार को रिहा कर दिया गया। विदेश मंत्रालय ने ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मालवाहक जहाज एमएससी एरीज पर सवार भारतीय चालक दल में शामिल केरल के त्रिशूर की रहने वाली महिला कैडेट ऐन टेस्सा जोसफ कोचीन पहुंच चुकी हैं। इसके अलावा, ईरान में भारतीय दूतावास बाकी 16 भारतीय कर्मियों के साथ संपर्क में है। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जयसवाल ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि भारतीय दूतावास ने "ईरानी अधिकारियों के समर्थन" से जोसेफ की भारत वापसी सुनिश्चित की है। उन्होंने कहा कि दूतावास शेष 16 भारतीय चालक दल के सदस्यों की भलाई सुनिश्चित करने के लिए ईरानी पक्ष के संपर्क में है। जयसवाल ने क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी द्वारा कोचीन हवाई अड्डे पर जोसेफ का स्वागत करते हुए एक तस्वीर पोस्ट की।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि तेहरान में भारतीय मिशन एमएससी एरीज के चालक दल के बाकी सदस्यों की कुशलता के लिए ईरान के अधिकारियों के साथ संपर्क में है। गौरतलब है कि खाड़ी क्षेत्र में ईरान द्वारा जब्त किए गए इजरायल से जुड़े मालवाहक जहाज पर सवार 17 भारतीयों में केरल की एक महिला भी शामिल थी। 

17 भारतीय कंटेनर जहाज एमएससी एरीज के 25 सदस्यीय चालक दल का हिस्सा थे, जिसे 13 अप्रैल को होर्मुज जलडमरूमध्य में ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) की एक स्पेशल फोर्स युनिट ने जब्त कर लिया था। ईरान के विदेश मंत्रालय ने इस सप्ताह कहा था समुद्री कानूनों का उल्लंघन करने पर मालवाहक जहाज को जब्त कर लिया गया।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि तेहरान में भारतीय दूतावास "मामले से अवगत है" और शेष 16 भारतीय चालक दल के सदस्यों के संपर्क में है। वे सभी अच्छी सेहत में हैं और भारत में अपने परिवार के सदस्यों के संपर्क में हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 14 अप्रैल को फोन पर बातचीत के दौरान अपने ईरानी समकक्ष होसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन के साथ भारतीय नाविकों की रिहाई का मुद्दा उठाया था। जयशंकर ने चालक दल के सदस्यों को लेकर चिंता व्यक्त की थी और ईरान से सहायता का अनुरोध किया। इसके बाद ईरानी मंत्री आमिर-अब्दुल्लाहियन ने उस समय कहा था कि भारतीय अधिकारियों को भारतीय चालक दल के सदस्यों से मिलने की अनुमति दी जाएगी।

बता दें कि इजरायल के एक अरबपति कारोबारी से संबद्ध इस जहाज पर चालक दल के 25 सदस्यों में 17 भारतीय सवार थे। ईरान की सरकारी समाचार एजेंसी आईआरएनए के अनुसार, रिवोल्यूशनरी गार्ड की एक विशेष इकाई ने पुर्तगाल के ध्वज वाले एमएससी एरीज जहाज पर हमला किया। यह लंदन स्थित जोडियाक मैरीटाइम से जुड़ा एक कंटेनर जहाज है। जोडियाक मैरीटाइम इजरायली अरबपति इयाल ओफर के जोडियाक ग्रुप का हिस्सा है।  
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें