DA Image
14 जुलाई, 2020|6:23|IST

अगली स्टोरी

आंध्र प्रदेश में एक दो नहीं होंगे पूरे 5 उप-मुख्यमंत्री, जानिए टीडीपी ने क्या दिया बयान

telugu desham party chief n  chandrababu naidu  file pic

आंध्र प्रदेश की जगनमोहन रेड्डी सरकार ने अपने कैबिनेट में पांच उप-मुख्यमंत्री बनाने का फैसला किया है। यह अपने आप में एक नया रिकॉर्ड होगा। उधर, आंध्र प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी ने वाईएसआर कांग्रेस अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के सीएम जगनमोहन रेड्डी के इस फैसला पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए इसे राज्य के मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार करार दिया है।

टीडीपी के प्रवक्ता लंका दिनाकरण ने कहा- “यह मुख्यमंत्री की विशेषाधिकार है। जो भी लोग योग्य हैं उन्हें वह अपने कैबिनेट में ले सकते हैं। हम लोगों की अपेक्षाओं के अनुरूप अच्छी सेवा की उम्मीद कर रहे हैं। टीडीपी इसमें अपनी सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभागी।”

गौरतलब है कि जगन मोहन रेड्डी की अगुवाई में बनी वाएसआर कांग्रेस की सरकार में पांच उप-मुख्यमंत्री बनाए जाने का फैसला इसलिए किया गया है ताकि सभी जातियों का सत्ता में संतुलन बनाया जा सके।

ये भी पढ़ें: CBI को लेकर CM जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए अपने 25 सदस्यीय मंत्रिमंडल में पांच उपमुख्यमंत्री नियुक्त करने का शुक्रवार को फैसला किया। नए मंत्रिपरिषद का गठन शनिवार को एक सार्वजनिक कार्यक्रम में किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार सुबह यहां अपने आवास में वाईएसआर कांग्रेस विधायक दल की बैठक की जिसमें उन्होंने पांच उप मुख्यमंत्री नियुक्त करने के अपने फैसले की घोषणा की। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदायों से एक-एक उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

उन्होंने अपने विधायकों को यह भी बताया कि कैबिनेट में मुख्य रूप से कमजोर वर्गों के सदस्य होंगे जबकि अपेक्षा यह की जा रही थी कि रेड्डी समुदाय को मंत्रिमंडल में मुख्य स्थान मिलेगा।

रेड्डी ने बताया कि ढाई साल बाद सरकार के प्रदर्शन की समीक्षा के पश्चात फिर से मंत्रिमंडल में फेरबदल किया जाएगा। इससे पहले एन चंद्रबाबू नायडू की सरकार में कापू और पिछड़ा समुदायों का एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाया गया था। जगन के इस फैसले को एक क्रांतिकारी कदम माना जा रहा है जिसका मकसद इन समुदायों को साधे रखना है।

ये भी पढ़ें: आंध्र प्रदेश में होंगे 5 उप-मुख्यमंत्री, जानिए क्यों किया गया ये फैसला

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Andhra Pradesh will not have one two the entire 5 Deputy Chief Minister know what TDP has given the statement