Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशआंध्र प्रदेश में भारी बारिश से तबाही, सड़कें बनीं नहर, 24 लोगों की मौत, कई लापता

आंध्र प्रदेश में भारी बारिश से तबाही, सड़कें बनीं नहर, 24 लोगों की मौत, कई लापता

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली Nootan Vaindel
Sun, 21 Nov 2021 09:58 AM
आंध्र प्रदेश में भारी बारिश से तबाही, सड़कें बनीं नहर, 24 लोगों की मौत, कई लापता

इस खबर को सुनें

आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश ने भारी भयंकर तबाही मचा दी है। बारिश के कारण कई इलाकों की सड़कें नहरों और नालों बदल गई हैं। जिससे लोगों का जीवन मुश्किल में पड़ गया है। लगातार बारिश जारी रहने से यहां कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई और कई लोग लापता हो गए हैं। कडप्पा जिले में मूसलाधार बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ में 13 लोगों की मौत हो गई। अनंतपुर में बारिश से संबंधित घटनाओं में सात और चित्तूर जिले में चार लोगों की मौत हो गई। कई इलाकों में फंसे लोगों को बचाने के लिए लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं।

उफनती नदियों और नालों ने रायलसीमा के तीन जिलों में भारी बाढ़ ला दी, कुछ जगहों पर सड़कें काट दीं और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। कई जगहों पर सड़कें नहरों में तब्दील हो गईं और वाहन बह गए। 1,544 घर क्षतिग्रस्त हो गए, 3.4 हेक्टेयर कृषि क्षेत्र जलमग्न हो गए, और सैकड़ों मवेशी खो गए। इन जिलों में करीब 8,206.57 लाख रुपये की सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान का अनुमान है।

कडप्पा जिले के राजमपेटा निर्वाचन क्षेत्र में, चेयेरू नदी में अचानक आई बाढ़ में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 अन्य का पता नहीं चल सका है। एसडीआरएफ, पुलिस और अग्निशमन सेवा के कर्मियों ने कडप्पा और चित्तूर जिलों में बाढ़ प्रभावित स्थानों से दसियों लोगों को बचाया।

एनडीआरएफ ने बाढ़ के कारण कट गए छह गांवों से संपर्क बहाल कर दिया है। एक अंतिम शेष गांव से संपर्क स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है। IAF की टीम ने एक JCB में फंसे दस लोगों को बचाने के लिए Mi-17 हेलीकॉप्टर का उपयोग करके एक अभियान चलाया।

जेसीबी इससे पहले दोपहर में चित्रावती बाढ़ में फंसी एक कार में सवार चार लोगों को बचाने गई थी, लेकिन जैसे ही बाढ़ का खतरा बढ़ गया, उसमें से छह और कार के चार यात्री फंस गए। करीब 213 राहत शिविर खोले गए हैं और इनमें 19,859 लोग रह रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी से फोन पर बात कर राज्य के हालात का जायजा लिया और हर संभव मदद का वादा किया
 

epaper

संबंधित खबरें